सड़क और पुल दुरस्त न कराने वाले अधिकारियों पर प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश

कहने के बावजूद कार्य न कराने की कार्यशैली से कलेक्टर खफा...

विदिशा@गोविंद सक्सेना की रिपोर्ट...

जिले के बागरोद से मेहलुआ चौराहे तक नेशनल हाइवे की मरम्मत नहीं कराए जाने पर कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह ने असंतोष जाहिर करते हुए एसडीएम को निर्देश दिए कि एनएच के कार्यपालन यंत्री के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराने की कार्रवाई की जाए।

इसी प्रकार के निर्देश एमपीआरआरडीए के प्रबंधक के खिलाफ कागपुर पुल पर निर्देशों के बावजूद कार्य नहीं करने पर विदिशा एसडीएम को एमपीआरआरडीए के प्रबंधक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश दिए है। कलेक्टर लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक ले रहे थे।


इसी तरह मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के तहत ऐसे आवेदन जिनका निराकरण जिला स्तर पर संभव है और उन विभागों के अधिकारियों द्वारा निराकरण की कारगर पहल नहीं की गई है। इसके अलावा जिन विभागों में दस से अधिक आवेदन लंबित है।

उन विभागों के अधिकारियों को शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। कलेक्टर सिंह ने अपर कलेक्टर को अधिकृत करते हुए कहा कि जिन विभागों में लंबित आवेदनो की संख्या अधिक है वे अभियान चलाकर अपर कलेक्टर के मार्गदर्शन में निराकरण की कार्यवाही सम्पादित करें।

हर रोज की प्रगति से अपर कलेक्टर अवगत कराने के निर्देश विभागों के अधिकारियों को दिए गए है। कलेक्टर ने जिले में यूरिया भण्डारण की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि जिले को कुल 26 हजार मैट्रिक टन यूरिया की आवश्यकता है।

अब तक 13 हजार मैट्रिक टन यूरिया किसानों को उपलब्ध कराया जा चुका है। जिले की समितियों में पर्याप्त मात्रा में यूरिया भण्डारित है। इसके बावजूद भी किसानों को लाइनों में लगकर यूरिया का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कलेक्टर ने निर्देश दिए कि मांग के अनुरूप किसानों को यूरिया उपलब्ध कराया जाए।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned