scriptMakar Sankranti, estimate of sesame business up to 25 lakhs in the cit | मकर संक्रांति, शहर में 25 लाख तक तिल के व्यवसाय का अनुमान | Patrika News

मकर संक्रांति, शहर में 25 लाख तक तिल के व्यवसाय का अनुमान

locationविदिशाPublished: Jan 12, 2023 11:41:31 pm

Submitted by:

Bhupendra malviya

लड्डू के लिए गुड़, राजगिर, मूंग व मुरमुरा की बिक्री ने भी पकड़ा जोर

मकर संक्रांति, शहर में 25 लाख तक तिल के व्यवसाय का अनुमान
मकर संक्रांति, शहर में 25 लाख तक तिल के व्यवसाय का अनुमान
विदिशा। मकर संक्रांति पर्व के तीन दिन शेष है। इसी के साथ ही बाजार में तिल, गुड़, राजगिर, मूंग, मुरमुरा आदि में पूछपरख बढ़ गई है। खास खरीदी तिल को लेकर है। इस दिन तिल के लड्डू का विशेष महत्व होने से किराना दुकानों में तिल की खरीदी बढ़ी है। किराना व्यवसायियों के मुताबिक मकर संक्रांति पर्व के उत्साह के चलते तिल का यह व्यवसाय करीब 25 लाख तक पहुंचने की संभावना है।

ज्योतिषों के मुताबिक 14 जनवरी की रात सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे और 15 जनवरी को मकर संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। कुछ ही दिन शेष रह जाने से घरों में परंपरागत तरीके से मकर संक्रांति पर लड्डू बनाए जाने की तैयारियां शुरू हो चुकी है और लोग इन पकवानों की तैयारी में किराना दुकानों पर पहुंचने लगे हैं। हर एक किराना दुकानों पर विक्रय के लिए तिल और लड्डू सबसे आगे रखे जा रहे हैं। वहीं सड़कों के किनारे, तिराहे व चौराहों के आसपास भी ठेले लगाकर गुड़ व तिल का व्यवसाय हो रहा और इनकी खरीदी में तेजी आने लगी है।
--------------------------------

25 से 30 प्रतिशत बढ़े दाम
व्यापार महासंघ के उपाध्यक्ष एवं किराना व्यापारी नीरज चौरसिया के मुताबिक किराना में लड्डू की सभी सामग्रियों में 25 से 30 प्रतिशत तक की मूल्यवृद्धि हुई है। तिल जो गत वर्ष 140- 160 के भाव थी वह अब 200-220 के भाव हो चुकी। इसके अलावा रबा, मैदा, मूंगफली, राजगिर, गुड़, शकर, घी आदि के दाम भी गत वर्ष से बढ़े हैं। वहीं बेसन, मूंग, तेल, मुरमुरा आदि के दामों में भी वृद्धि हुई। लड्डुओं में उपयोगी किसमिस, काजू, खारक, बादाम,खोपरा के भी गत वर्ष की अपेक्षा प्रति किलो 100 रुपए तक महंगे हुए हैं।

----------------------------
लाखों में रहता है तिल व गुड़ का व्यवसाय

इधर किराना संघ के अध्यक्ष सुरेश मोतियानी ने बताया कि मकर संक्रांति पर्व पर तिल का करीब 25 लाख रुपए तक व्यववाय का अनुमान है। जबकि पूर्व में 40 लाख तक यह व्यवसाय रहता था। इसी तरह करीब 30 लाख का गुड़ बिकने की संभावना है। उन्होंने कहा कि शहर में छोटी बड़ी करीब 1500 किराना दुकानें है। इसके अलावा आसपास के गांव की दुकानों में भी विदिशा से किराना सामग्रियां पहुंचती है।
------------------

गजक व लड्डू में नहीं बढ़े दाम
इधर गजक व लड्डू विक्रेता सोदानसिंह नरवरिया ने बताया कि गजक व लड्डू में गत वर्ष की तरह ही भाव िस्थर है। तिली के लड्डू गत वर्ष भी 240 रुपए किलो थे और इस वर्ष भी उसी दाम में विक्रय कर रहे हैं। इसी तरह राजगिर, रबे, मुरमुरे व गजक का भाव भी पूर्व की तरह ही िस्थर रखे गए हैं। अन्य किसी ने दाम नहीं बढ़ाए इसलिए सभी जगह समान दाम चल रहे हैं।

--------------------
व्याघ्र पर बैठकर आ रही मकर संक्रांति

इधर धर्मााधिकारी पं. विनोद शास्त्री के मुताबिक इस वर्ष मकर संक्रांति व्याघ्र पर बैठक आ रही है। 14 जनवरी को रात में सूर्य का धनु राशि से मकर में प्रवेश होगा और 15 जनवरी को यह पर्व मनाया जाएगा। इसी दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाएंगे और सभी मांगलिक कार्य फलदायक होते हैं। इस दिन दान, हवन, पूजन, श्राद्ध, तर्पण आदि करने का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति रविवार को पड़ रही इस कारण इस वर्ष मकर संक्रांति विशेष फलदायक रहेगी।
--------------------------------
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.