मास्साब विद्यार्थियों से बोलेगे वेलकम

मास्साब विद्यार्थियों से बोलेगे वेलकम
Vidisha photo

Shankar Sharma | Publish: Jun, 15 2015 11:38:00 PM (IST) Vidisha, Madhya Pradesh, India

 आज तमाम सरकारी स्कूलों में विद्यार्थी स्कूल में पहला कदम रखेंगे इस दौरान स्कूलों में मौजूद शिक्षक पहले बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत करेंगे उसके बाद उनका फूलों से स्वागत किया जाएगा

गंजबासौदा। आज तमाम सरकारी स्कूलों में विद्यार्थी स्कूल में पहला कदम रखेंगे इस दौरान स्कूलों में मौजूद शिक्षक पहले बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत करेंगे उसके बाद उनका फूलों से स्वागत किया जाएगा।

ब्लाक में 326 प्राथमिक 129 माध्यमिक और 28 कक्षा 9 से 12 तक के हाई एवं हायर सेंकेंडरी स्कूल हैं इसमें तकरीवन 30 हजार से ज्यादा विद्यार्थी दर्ज हैं इन विद्यार्थियों का मंगलवार को स्कूलों में प्रवेश उत्सव होगा। बताया गया है कि प्रवेश उत्सव दौरान ही बच्चों को किताबों का वितरण किया जाएगा। स्कूल में खेल समेत अन्य गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। प्रवेश उत्सव के लिए स्कूलों में साफ सफाई कर ली गई है।

पहले दिन खाएंगे खीर पुड़ी
पहले दिन मंगलवार को मीनू के हिसाब से बच्चों को खाना दिया जाएगा। बताया गया है कि पहले दिन खीर पुड़ी खिलाई जाएगी। इसके अलावा अन्य सामग्री का भी वितरण होगा। स्कूलों में प्रवेश उत्सव किस तरह से मनाया गया है और कितने स्कूल खुले हैं इस बात की भी निगरानी के लिए टीमों का गठन किया गया है। जनशिक्षक मॉनीटरिंग करेंगे। इसके अलावा बीईओ बीआरसी भी तमाम स्कूलों का निरक्षण करेगे। सुबह साढ़े 10 बजे से लेकर शाम साढ़े 4 बजे तक स्कूलों में प्रवेश उत्सव मनाया जाएगा।

नहीं खुलते हैं समय पर स्कूल
कई स्कूल समय पर नहीं खुलते हैं इसकी जानकारी जुटाई जाएगी। वहीं जिला से भी अधिकारियों का दल पहले दिन निगरानी पर रहेगा। वहीं बेदनखेड़ी सरकारी स्कूल में हैंडपंप नहीं हैं जिससे बच्चों और शिक्षकों को परेशानी होती है। पार्षद जसवंतसिंह दांगी ने हैंडपंप लगाने की मांग की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned