दो युवा बेटियों के साथ मां ने फंदे पर लटककर दे दी जान

सनसनीखेज घटना से पूरा गांव सकते में, कारणों का नहीं हो सका खुलासा, पुलिस जांच में जुटी

By: govind saxena

Updated: 17 Jun 2020, 09:17 PM IST

शमशाबाद. पिपलधार के पास धोबीखेड़ा गांव में उस समय सनसनी फैल गई जब एक यादव परिवार में एक साथ तीन शव फंदे पर लटके मिलने की खबर मिली। दो युवा बेटियों के साथ एक महिला ने फंदे पर लटककर जान दे दी। घटना का कारण क्या रहा ये न महिला का पति बता पा रहा है और न पुत्र। पूरा गांव सकते में है और पुलिस एक साथ हुई इन तीन आत्महत्यों की गुत्थी सुलझाने में लगी है।


बुधवार की सुबह घर के मालिक राजेश यादव ने अपनी पत्नी सुशीला, पुत्र मनोज, पुत्री 18 वर्षीय सारिका और 16 वर्षीय रक्षा यादव के साथ बैठकर चाय पी और फिर राजेश अपने पुत्र के साथ खेत पर चले गए। रमेश के पास करीब 27 बीघा की खेती है, जिसमें उन्होंने गेंहू का उत्पादन लिया था और अब सोयाबीन बोवनी की तैयारी चल रही थी। इस बीच घर में मां और दो बेटियों के बीच न जाने क्या हुआ कि चंद घंटों में ही तीनों ने अपनी जीवनलीला समाप्त करने का निर्णय ले लिया। जब करीब 11 बजे राजेश और मनोज घर लौटे तो उन्होंने देखा कि बरामदे का गेट खुला हुआ था और हॉल में तीनोंं के शव लाइन से फंदे पर झूल रहे थे। घबराए रमेश और उनके पुत्र ने पुलिस को खबर दी और कुछ ही देर में शमशाबाद थने से एसडीओपी भंवरसिंह सिसौदिया तथा टीआई अजय दुबे मौके पर जा पहुंचे। विदिशा से एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची। एडीशनल एसपी केएल बंजारे और फिर शाम तक एसपी विनायक वर्मा भी पहुंच गए। शवों को फंदे से उतारकर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। लेकिन तमाम प्रारंभिक पड़ताल के बावजूद यह पता नहीं चल सका कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि मां ने अपनी दो जवान बेटियों के साथ यह कदम उठाया।


परिस्थितिजन्य साक्ष्यों और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार तीनों की मौत आत्महत्या ही मालूम पड़ती है। लेकिन फिलहाल मर्ग कायम कर जांच में लिया जा रहा है। आत्महत्या क्यों की गई, इसका कोई कारण अभी सामने नहीं आया है। फिर भी पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसी के आधार पर कार्रवाई होगी।
-विनायक वर्मा, एसपी विदिशा

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned