पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती होने वाले बच्चों की माताओं को नहीं मिली तीन माह से प्रोत्साहन राशि

पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती होने वाले बच्चों की माताओं को नहीं मिली तीन माह से प्रोत्साहन राशि
विदिशा। पोषण पुनर्वास केंद्र जहां आने वाले बच्चों की माताएं हो रही हैं राशि के लिए परेशान।

Anil Kumar Soni | Updated: 06 Oct 2019, 11:35:45 AM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

कभी नए साफ्टवेयर तो कभी बजट का बता रहे अभाव

विदिशा। पोषण पुनर्वास केंद्र में कुपोषित बच्चों को पोषित करवाने के लिए उनके साथ आने वाली उनकी माताओं को करीब तीन से चार माह बीत जाने के बावजूद प्रोत्साहन राशि नहीं मिली है। जिससे वे स्वास्थ्य विभाग के चक्कर लगाने को मजबूर हैं। लेकिन कभी उनसे कह दिया जाता है कि नए साफ्टवेयर की दिक्कतों की वजह से भुगतान नहीं हो पा रहा, तो कभी कहा जाता है कि बजट का अभाव है।

नुकसान की कुछ भरपाई हो सके
कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती किया जाता है। 14 दिन तक उन्हें प्रोटीन युक्त भोजन दिया जाता है। जिससे कि उनके कुपोषण में सुधार आता है और बच्चों का वजन बढ़ जाता है। वहीं बच्चों के साथ 14 दिन तक केंद्र में रहने वाली उनकी माताओं को प्रतिदिन के 120 रुपए के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जाती है। जिससे कि कई मजदूर वर्ग की महिलाएं यदि केंद्र बच्चों को लाती हैं, तो उनके आर्थिक नुकसान की कुछ भरपाई हो सके।

20 बच्चों के रखने की व्यवस्था
इस प्रकार एक बच्चे की माता को 14 दिन का कुल 1680 रुपए का भुगतान होता है, लेकिन दो माह से तो नए साफ्टवेयर की गफलत में इन महिलाओं का भुगतान रुका है। वहीं इसके पूर्व बजट नहीं होने की बात कही गई थी। कुल मिलाकर दो माह से तो केंद्र आने वाली किसी भी बच्चे की माता को भुगतान नहीं हुआ, वहीं उसके पूर्व के भी कई भुगतान रुके हुए हैं। विदिशा पुनर्वास केंद्र में कुल 20 बच्चों के रखने की व्यवस्था है। लेकिन शनिवार को यहां महज छह बच्चे थे।

इनका कहना है
नए साफ्टवेयर की वजह से और अब भोपाल से पूरी जांच के बाद राशि हितग्राही के खाते में डाली जाएगी। जिसके चलते कुछ परेशानी आ रही है। पुनर्वास केंद्र में आने वाले बच्चों की माताओं को जल्द राशि दिलवाई जाएगी।
- डॉ. केेएस अहिरवार, सीएमएचओ, विदिशा

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned