तब तक मुंह में मिट्टी भरता रहा जब तक उसकी जान न निकल गई

औलिंजा में वृद्धा से दुष्कृत्य के बाद हत्या का पर्दाफाश

By: govind saxena

Published: 20 Nov 2020, 09:54 PM IST

विदिशा. 18-19 नवंबर की दरम्यिानी रात ऑलिंजा में एक 70 वर्षीय वृद्धा के साथ दुष्कृत्य और फिर उसकी निर्मम हत्या कर गुप्तांगों को भी डंडे से क्षति पहुंचाने के मामले का खुलासा हो गया है। आरोपी को पुलिस ने औलिंजा के पास ही जंगल से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार कर खुद ही बताया कि दुष्कृत्य के दौरान वृद्धा चीखने लगी तो उसने खेत की मिट्टी उसके मुंह में लगातार तब तक भरी जब तक कि उसकी चीख शांत नहीं हो गई। बाद में वह मरी या जिन्दा थी, यह जानने के लिए उसने गुप्तांग को भी डंडे से क्षतिग्रस्त किया। आरोपी 26 वर्ष का शादीशुदा युवक है उसके दो बच्चे भी हैं।


एसपी विनायक वर्मा ने पत्रकारवार्ता में इस मामले का खुलासा करते हुए कहा कि 19 नवंबर की सुबह 8 बजे वृद्धा का शव पड़ा होने की सूचना मिली थी, उसके मुंह में मिट्टी भरी थी और गुप््रतांग भी घायल थे। मर्ग कायम कर पोस्टमार्टम कराया गया, शार्ट पीएम रिपोर्ट में मृत्यु का कारण मुंह में मिट्टी भरने जाने के कारण दम घुटना पाया गया। इस पर भादंवि की धारा 302 और 376 के तहत प्रकरण कायम किया गया। चूंकि मामला बहुत गंभीर प्रकृति का था, इसलिए एफआइआर दर्ज होते ही एसडीओपी आकांक्षा जैन के नेतृत्व में थाना प्रभारी ग्यारसपुर महेन्द्र शाक्य और ग्यारसपुर तथा कोतवाली विदिशा के स्टॉफ को मामले की पड़ताल की जिम्मेदारी सौंपी। टीम में सहयोगी के रूप में इंस्पेक्टर वीरेंद्र झा भी रहे। पड़ताल के दौरान ग्रामीणों ने औलिंजा के ही 26 वर्षीय युवक सुरेंद्र उर्फ गोलू चिड़ार पर शक जताया। वह घटना के बाद से गांव में भी नहीं था। आरोपी क ेपास बाइक थी नहीं इसलिए उसके दूर जाने की भी आशंका नहीं थी, इसलिए उसे आसपास ही ढूंढने का प्रयास किया गया। सफलता मिली और पास ही जंगल से गोलू को पकड़ लिया गया। हिरासत में पूछताछ के दौरान सुरेंद्र उर्फ गोलू ने अपना अपराध स्वीकार कर घटनाक्रम का खुलासा कर दिया।

आरोपी ने इस तरह बताया घटनाक्रम
एसपी विनायक वर्मा के अनुसार आरोपी सुरेंद्र ने जो घटनाक्रम बताया उसके मुताबिक वह रात को शराब पीकर घर लौट रहा था, तभी उसने मृतका को खेत की तरफ जाते हुए देखा। वह भी पीछे हो लिया और उसने खेत के टपरे पर जाकर वृद्धा से संबंध बनाने की इच्छा जताई। इस पर मृतका ने मना कर दिया तो उसने वृद्धा को जमीन पर जबरदस्ती पटककर दुष्कृत्य किया। वृद्धा की चीख रोकने के लिए सुरेंद्र उसके मुंंह में मिट्टी भर दी और मिट्टी तब तक भरी जब तक कि वो पूरी तरह खामोश नहीं हो गई। बाद में मृतका को जिंदा या मुर्दा परखने के लिए उसने गुप्तांग को भी क्षतिग्रस्त किया और फिर फरार हो गया।

इस टीम ने किया पर्दाफाश
एसपी ने बताया कि इस दुष्कृत्य और हत्या के मामले का खुलासा करने में एसडीओपी आकांक्षा जैन, इंस्पेक्टर वीरेन्द्र झा, महेन्द्र शाक्य, शिवप्रसाद विश्वकर्मा, रामआसरे पासी, योगेन्द्र सिंह भदौरिया, तुलसीराम सूर्यवंशी, दीपक बघेल, कमलेश कुमार, इरफान अहमद, प्रमोद शर्मा, कमल रघुवंशी, सुनील दुबे, जयप्रकाश, निशा सोनी, संतोष, लखन, तुलसीराम, पवन, सोनू, हिम्मत और धर्मेन्द्र लोधी की भूमिका सराहनीय रही।

पहले भी बुजुर्ग महिलाओं से कर चुका है छेड़छाड़
एसपी विनायक वर्मा ने बताया कि आरोपी सुरेंद्र उर्फ गोलू चिड़ार पर पहले भी दो केस कायम है, दोनों ही मामले छेड़छाड़ के हैं और इनमें से एक में उसने 65 वर्षीय वृद्धा के साथ छेड़छाड़ की थी।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned