चातुुर्मास के लिए मुनिसंघ का नगर आगमन, इस तरह किया गया भव्य स्वागत

बंटीनगर चौराहे से मुनिश्री अभयसागर महाराज और उनके संघ का नगर पेवेश हुआ।

By: govind saxena

Published: 23 Jul 2018, 12:12 PM IST

विदिशा. चातुर्मास के लिए मुनिश्री अभयसागर, प्रभातसागर और पूज्यसागर महाराज ने आज सुबह 8 बजे नगर में मंगल प्रवेश किया। बंटीनगर चौराहे पर मुनिसंघ की भव्य अगवानी की गई। बैंडों का जयघोष गूंजा और मुनिराजों के पैर पखार कर उनकी अग्रवानी की गई। फिर उनका अरिहंत विहार जिनालय में आगमन हुआ।

vidisha,  <a href=Vidisha news, vidisha patrika , patrika news , patrika bhopal , bhopal mp , latest hindi news , Munisri Abhayasagar, Prabhatasagar and Pujya Sagar Maharaj, jain samudaye, dps world school , " src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/07/23/vid1_3143183-m.jpg">

सुबह करीब 5.30 बजे से मुनिराजों ने डीपीएस वल्र्ड स्कूल से विदिशा की ओर विहार किया और कभी बरसते कभी रुकते पानी के बीच सुबह 8 बजे वे विदिशा आए। कई बार बारिश के चलते लोग परेशान भी हुए। पर, फिर उनके कदम रूके नहीं। उनके साथ बड़ी संख्या में जैन धर्मावलंबियों का जत्था था, जैन धर्म ध्वजा और जय घोष करते समाज के युवाओं का बैंड था। जिसकी मस्ती में मग्न हो बस चले जा रहे थे। एक और बैंड ट्रिनिटी कांवेंट के सामने उनके साथ हो लिया।

मुनिराज पीतलमिल चौराहे तक पहुंचे और उम्मीद थी कि वे ओवरब्रिज से होकर सीधे अरिहंत विहार जिनालय पहुंचेंगे, लेकिन वे खरीफाटक बाहर स्थित चंद्राप्रभु जिनालय में प्रभु दर्शन करते हुए, फिर ओवरब्रिज से अरिहंत के लिए रवाना हुए। यहां बड़ी संख्या में जैन धर्मावलंबियों ने मुनिराजों को नमोस्तु किया और फिर वे जिनदर्शन के लिए मंदिर में पहुंचे। उधर शीतलधाम में पं. महेन्द्र जैन के निर्देश में अष्ठानिका महापर्व के अवसर पर श्री सिद्धचक्र महामंडल विधान का पांचवे दिन के कार्यक्रम संपन्न हुए। यहां भगवान का अभिषेक, शांतिधारा उपरांत पूजन किया गया और अपने परिवार की सुख समृद्धि के लिए मंगल कामनाएं की। सभी कार्यक्रमों में जैन धर्मावंबियों ने उत्साह के साथ भाग लिया।

आस पास से गुजर रहे लोग भी हुए शामिल
इस भव्य आगवानी में सिर्फ समुदाय के लोग ही नहीं थे। वरन् आस पास से गुजर रहे लोग भी शामिल हुए। उन्होंने भी भक्ति् भाव अंदाज में जैन समुदाय के लोगों का साथ दिया। साथ ही जैन मुनियों को नमस्कार कर उनका आर्शीवाद भी लिया।

Show More
govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned