नदी तट पर पुरखों को लेने पहुंचे लोग, शुरू हुआ तर्पण

बेतवा नदी में पितरों का तर्पण करते लोग

By: govind saxena

Updated: 20 Sep 2021, 09:36 PM IST

विदिशा. पूर्णिमा के दिन से पहले श्राद्ध को मानते हुए सैंकड़ों लोग बेतवा तट पर सुबह अपने पुरखों को लेने पहुंचे और श्रद्धाभाव से मंत्रोच्चार के बीच उनका सामूहिक तर्पण किया। घाट पर बैठे पंडितों द्वारा लगातार मंत्रोच्चार किया जा रहा था और उन्हीं के निर्देशों पर लोग अपने पितरों का विधि विधान से तर्पण करते जा रहे थे। ऐसी मान्यता है कि श्राद्ध पक्ष शुरू होते ही पुरखे अपने परिजनों के घर आते हैं, उनको लेने के लिए नदी तट पर पहुंचते हैं और फिर सर्वपितृ अमावस्या तक उनको नियमित पानी देने और भोग अर्पित करने के साथ ही पुरखों के देहावसान की तिथि पर श्राद्ध किया जाता है। जिन पितरों की देहावसान तिथि ज्ञात नहीं होती, उनका श्राद्ध सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या पर करने का विधान बताया गया है।


इसी पितृ पर्व के चलते सुबह से बेतवा के विभिन्न घाटों पर भारी भीड़ थी। हालांकि एक दिन पूर्व ही गणेश विसर्जन के कारण घाटों पर काफी मिट्टी जमा हो गई थी, जिससे फिसलन हो रही थी, नगरपालिका ने इसे साफ नहीं कराया था, इससे तर्पण करने वालों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा, लेकिन परंपरा के निर्वहन में ये परेशानी बाधक नहीं बन सकी। तर्पण के साथ साथ बेतवा उत्थान समिति और नियमित श्रमदानी बेतवा तटों की मिट्टी साफ करने में पूरी शिद्दत से जुटे थे। तर्पण का यह सिलसिला पहले दिन दोपहर 12 बजे के बाद तक चलता रहा।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned