शव को थाने में रखकर जताया विरोध तो पुलिस ने चलाई लाठियां, परिजन जोड़ते रहे हाथ-पैर

सड़क हादसे में मौत का मामला

By: Amit Mishra

Published: 16 May 2020, 08:50 AM IST

विदिशा। करारिया थाना परिसर में शुक्रवार की शाम हंगामे की नौबत बनी। यहां सड़क हादसे में हुई एक मौत के मामले में परिजन व उनके साथ आए लोगों ने शव को थाना परिसर में रखकर पुलिस के खिलाफ विरोध जताया तो पुलिस ने लाठी चलाकर उन्हें परिसर से बाहर कर दिया। इस दौरान परिजनों ने पुलिस के हाथ जोड़े, पैरों पर सिर रखा लेकिन पुलिस ने उन्हें थाने से खदेड़ दिया।

शुक्रवार को मौत हो गई
मिली जानकारी के अनुसार इस थानांतर्गत 12 मई की शाम देवखजूरी के पास जीप की टक्कर से बाइक चालक दो लोग घायल हुए थे। इनमें से एक घायल बहादुरपुर अशोकनगर निवासी करीब 50 वर्षीय राजकुमार खटीक की भोपाल में उपचाररत रहते शुक्रवार को मौत हो गई। शव को लेकर अशोकनगर जाते समय शव लेकर आ रही एंबूलेंस करारिया थाना परिसर में पहुंच गई और यहां परिजनों व साथ आए लोगों ने शव को परिसर में रखकर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए।

पुलिस ने उन्हें खदेडऩा शुरू कर दिया
करीब आधे घंटे तक हंगामा हुआ और बाद में सोशल डिस्टेंसिंग की बात कर पुलिस ने उन्हें खदेडऩा शुरू कर दिया। पुलिस के मुताबिक दो शराब ठेकेदारों के बीच प्रतिस्पर्धा का मामला है। पुलिस ने एक्सीडेंट के बाद अस्पताल तहरीर एवं बयानों के आधार पर जीप चालक के खिलाफ आबकारी एक्ट सहित 279,337 के तहत कार्रवाई की है। अब मर्ग डायरी आने पर धाराओं में इजाफा किया जाएगा।


कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया
टीआई बृजेश भार्गव ने लाठी चार्ज से इंकार किया। उन्होंने कहा कि 15-20 लोग थे। उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के लिए परिसर से बाहर किया गया था। उन्होंने बताया कि एडीशनल एसपी केएल बंजारे भी थाने आए और मृतक के परिजनों से चर्चा कर उन्हें पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट किया एवं उचित कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned