रेल रोकने का था ऐलान, स्टेशन तक भी नहीं पहुंच पाए कांगे्रसी

विधायक के नेतृत्व में गए कांग्रेसियों को पुलिस ने 3 मिनट में खदेड़ा

By: govind saxena

Updated: 18 Feb 2021, 02:57 PM IST

विदिशा. कृषि कानूनों का विरोध करते हुए कांगे्रस ने गुरूवार की सुबह 10 बजे रेल रोको आंदोलन का ऐलान किया था। यह आंदोलन विधायक शशांक भार्गव की मौजूदगी में होना था। आंदोलन की जगह प्लेटफार्म नंबर 3 की ओर बताई थी, लेकिन ऐनवक्त पर प्लेटफार्म नंबर 1 की ओर पहुंचे विधायक समेत कांग्रेसियों ने जैसे ही स्टेशन परिसर का रुख किया, वैसे ही रेलवे परिसर गेट पर तैनात पुलिस ने उन्हें आगे बढऩे से रोक दिया। मात्र 3 मिनट की धक्कामुक्की के बाद कांग्रेसी वहीं बैठ गए और फिर 56 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया।


नगर कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र राठौर ने विधायक शशांक भार्गव के नेतृत्व में रेल रोको आंदोलन का ऐलान किया था। आंदोलन का समय 9.45 बजे का दिया था, लेकिन खुद विधायक ही 10.30 बजे पहुंचे। आंदोलन का स्थान प्लेटफार्म नंबर 3 की ओर का था, जबकि कांग्रेसी एकत्रित हुए प्लेटफार्म 1 की ओर। उधर पुलिस ने दोनों ओर चाकचौबंद इंतजाम किए थे। भारी पुलिस बल, बैरीकेटिंग, बज्र वाहन, आंसू गैस सहित बंदूक धारी भी तैनात किए गए थे। तीन स्तर पर बैरीकेटिंग थी, हालांकि मात्र 50-60 कांग्रेसियों के कारण इतने की आवश्यकता नहीं पड़ी। पहले माधवगंज पर कांग्रेस नेताओं ने भाषण दिए और मोदी सरकार को जमकर कोसते हुए कृषि कानूनों पर विरोध जताया। इसके बाद उन्होंने रेलवे परिसर की ओर रुख किया।

56 कांग्रेसी गिरफ्तार और रिहा
सिद्धेश्वरी मंदिर के पास बने रेलवे के गेट पर ही पुलिस तैनात थी। यहां पहुंचते ही खुद एडीशनल एसपी संजय साहू, सीएसपी विकास पांडेय, कोतवाली टीआइ वीरेंद्र झा समेत पुलिस बल ने कांग्रेसियों को सख्ती से आगे बढऩे से रोक दिया और एक भी कांग्रेसी बैरीकेट पार कर परिसर में भी नहीं घुस सका। यहां तहसीलदार सरोज अग्निवंशी भी मौजूद थीं। हार मानकर कांगे्रसी विधायक समेत वहीं सड़क पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे। यहां से पुलिस ने 56 लोगों को गिरफ्तार किया और पुलिस लाइन पहुंचा दिया। पुलिस लाइन में एसडीएम ने मुचलके पर कांग्रेसियों को रिहा किया।

अगर कोई हद पार करे तो भूल जाना कौन क्या है...
आंदोलन से पहले पुलिस के एक अधिकारी अपने जवानों को सीख देते आए कि यहां तक सब जायज है, लेकिन बैरीकेट्स को पार करने का कोई जबरिया प्रयास करे और स्टेशन पर जाने की कोशिश करे तो भूल जाना कोई क्या है। स्टेशन परिसर में नहीं घुसने देना है।

वर्जन...
कांग्रेस के आंदोलन में 56 लोगों को माधवगंज से गिरफ्तार किया गया था। उन्हें एसडीएम के निर्देश पर मुचलके पर रिहा किया गया है।
-वीरेंद्र झा, टीआइ, कोतवाली विदिशा

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned