मेडिकल दुकानों पर बिक रहीं प्रतिबंधित दवाएं

मेडिकल दुकानों पर बिक रहीं प्रतिबंधित दवाएं
अस्पतालों की दवाइयों में किया जा रहा ये बड़ा खेल, अधिकारी डकार गए करोड़ों रूपए

Anil Kumar Soni | Publish: Oct, 08 2019 12:40:12 PM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

लोगों के स्वास्थ्य से हो रहा खिलवाड़

विदिशा। प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग का खौफ नहीं होने के कारण इन दिनों कई मेडिकल दुकानों पर प्रतिबंधित दवाएं धड़ल्ले से लोगों को बगैर डॉक्टर के पर्चे के बेची जा रही हैं। जिससे लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ हो रहा है। नियमानुसार नींद की गोली, गर्भ निरोधक गोली, खांसी का कोडीन मिला सिरप सहित कई दवाएं बगैर डॉक्टर के पर्चे के बेचना सख्त मना है। लेकिन विदिशा में इन नियमों का पालन अधिकांश मेडिकल संचालक नहीं कर रहे हैं और धड़ल्ले से इन दवाओं के बगैर पर्चे के बेचने का काम किया जा रहा है।

रजिस्टर भी नहीं करते मेंटेंन
मेडिकल दुकान संचालकों द्वारा करीब 12 प्रकार की दवाओं के साथ ही कुछ अन्य दवाओं के विक्रय के लिए शिड्यूल एच-1 ड्रग रजिस्टर मेंटेंन करने के निर्देश हैं। मेडिकल एसोसिएशन द्वारा यह रजिस्टर सभी मेडिकल संचालकों को दिए भी गए हैं। लेकिन अधिकांश मेडिकल संचालक इन रजिस्टर को मेंटेंन नहीं कर रहे हैं। स्थिति यह है कि कई मेडिकल दुकानों पर तो इन रजिस्टर में एंट्री तक नहीं की गई है। जबकि इसमें लिखी दवाएं बेचने का काम जरूर धड़ल्ले से किया जा रहा है।

अन्य नियमों का भी नहीं हो रहा पालन
मेडिकल दुकान में दवाएं कांच से कवर अलमारियों में रखी होना चाहिए। लेकिन कई मेडिकल दुकानों पर तो अलमारियों में कांच तक नहीं लगे हैं और दवाओं पर सड़कों की धूल उड़कर जमती रहती है। वहीं कई मेडिकल दुकानों पर फार्मासिस्ट की बजाए अन्य दवाएं विक्रय करते हैं। जबकि नियमानुसार फार्मासिस्ट या उसकी निगरानी में ही दवाओं का विक्रय किया जाना है। कई दुकानों पर तो नाबालिग तक दवाएं बेचते दिख जाएंगे। लेकिन जिम्मेदार मौन हैं।

किराना दुकानों पर दवाओं का विक्रय
शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के गली-मोहल्लों में स्थिति यह है कि धड़ल्ले से किराना दुकान संचालक तक एलोपैथी की दवाएं विक्रय कर रहे हैं। इनके पास सर्दी-जुखाम, बुखार, सिर दर्द, पेट दर्द से लेकर कई तरह की दवाएं मिल जाएंगीं।

इनका कहना है
अगर कोई मेडिकल संचालक नियमों के विरुद्ध दवाओं का विक्रय कर रहा है और शिड्यूल एच-१ रजिस्टर मेंटेंन नहीं कर रहा है। तो इस संबंध में सभी को समझाईश दी जाएगी, जिससे कि अधिकारियों की जांच के दौरान आने वाली समस्याओं से बचा जा सके।
- उमेश सिंघल, नगर अध्यक्ष, मेडिकल एसोसिएशन,विदिशा


मेडिकल संचालकों द्वारा यदि शिड्यूल एच-1 रजिस्टर मेंटेंन नहीं करने के साथ ही प्रतिबंधित दवाओं को बेचा जा रहा है और नियमों की अनदेखी की जा रही है, तो मेडिकल एसोसिएशन से बात कर रजिस्टर मेंटेंन करने और नियमों का पालन करने के लिए कहा जाएगा।
- संजीव जादौन, ड्रग इंस्पेक्टर, विदिशा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned