वीआईपी के दौरों में अटके सड़क सुरक्षा सप्ताह की प्रतियोगिताओं के पुरस्कार

सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत आयोजित हुई थीं विभिन्न प्रतियोगिताएं

विदिशा। सड़क सुरक्षा सप्ताह का समापन तीन दिन पूर्व हो चुका है, लेकिन शहर में वीआईपी और जनप्रतिनिधियों के दौरों के कारण सड़क सुरक्षा सप्ताह में हुई विभिन्न प्रतियोगिताओं के पुरस्कार अटक गए हैं।

मालूम हो कि शहर मेें सड़क सुरक्षा सप्ताह 11 जनवरी से एक हफ्ते तक मनाया गया। इस दौरान जगह-जगह विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर वाहन चालकों को यातायात नियमों की जानकारी दी गई और यातायात नियमों का पालन करने की सीख दी गई। इस दौरान स्कूली बच्चों को भी यातायात संबंधी जानकारी देने, ट्रैफिक सिग्नल और यातायात संबंधी ज्ञान देने के लिए निबंध, चित्रकला आदि प्रतियोगिताएं आयोजित की गई थीं। जिनके पुरस्कार अतिथियों द्वारा सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन पर देना थे। लेकिन शहर में वीआईपी जनप्रतिनिधियों के आगमन के कारण तीन दिन से इस कार्यक्रम में टिल लग रही है और प्रतियोगिताओं में हिस्सेदारी करने वाले बच्चों के स्कूल संचालकों को प्रतिदिन नई तारीख कार्यक्रम की बताई जा रही है। जिससे वे भी परेशान हो गए हैं।

इधर, यातायात थाना प्रभारी आशीष राय ने बताया कि वीआईपी के लगातार दौरों के कारण सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन कार्यक्रम में विलंब हुआ। उन्होंने बताया कि यदि आज सोमवार को कोई वीआईपी अचानक नहीं आया, तो दोपहर 12 बजे स्वामी विवेकानंद चौराहे पर सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जिसमें विभिन्न प्रतियोगिताओं में अव्वल आए प्रतियोगियों केा एसपी विनायक वर्मा और अन्य अतिथी पुरस्कृत करेंगे।

स्कूल-कॉलेजों में हुए थे आयोजन
सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत यातायात नियमों संबंधी जानकारी देने यातायात पुलिस द्वारा विभिन्न स्कूल और कॉलेजों में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए थे। इस दौरान विद्यार्थियों को यातायात नियमों का पालन करने से होने वाले लाभों से अवगत कराया गया। वहीं चौक-चौराहों पर यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को समझाईश दी गई। दो पहिया वाहन चालकों को हेलमेट लगाने, तीन सवारी नहीं बिठाने की हिदायत दी गई, तो वहीं चार पहिया वाहन चालकों को सीट बेल्ट का उपयोग करने, वाहन संबंधी दस्तावेज आदि सभी साथ रखकरा चलने की सीख दी। वहीं वाहन चालकों की आंखों की जांच सहित जन जागृति संबंधी कई आयोजन किए गए।

Anil kumar soni Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned