सावन के महिने में रूठी बारिश ने 15 वर्ष का रिकार्ड तोड़ा

आषाढ़ के 15 दिन में हु़ई थी 306 मिमी बारिश, पूरे सावन में मात्र 151 मिमी

By: govind saxena

Updated: 02 Aug 2020, 06:18 PM IST

विदिशा. सावन के महिने में इस बार बारिश ऐसी रूठी कि उसने 15 वर्ष का रिकार्ड तोड़ दिया। 2006 से लेकर 2019 तक सावन में इतनी कम बारिश कभी नहीं हुई जितनी इस बार हुई है। पूरा सावन रीता रीता सा बीत गया, लेकिन छिटपुट बौछारों और कभी छींटे डालकर बादल विदा होते रहे। बारिश का यूं रूठना किसानों के साथ ही आम आदमी को भी संकट में डाल गया है। अब भादों से उम्मीद है। इस बार सावन की झड़ी किसी एक दिन भी दिखाई नहीं दी। आषाढ़ के जिन 15 दिनों में जहां जिले में 306.4 मिमी औसत बारिश हो गई थी, वहीं सावन के पूरे महीने में मात्र 151 मिमी औसत बारिश ही जिले में हुई। इससे जहां नदियों क्या नालों की धार तक नहीं चल सकी है, वहीं फसलें भी पानी को तरस रही हैं।
इस साल जब जून में बारिश की शुरुआत हुई तो बीते सात साल में बेहतर बारिश का नजारा सामने आया। मात्र 15 दिन में 306 मिमी से ज्यादा बारिश हो गई। जबकि 2019 में यह बारिश मात्र 43.6 मिमी ही हुई थी। जून की अच्छी बारिश से इस बार पर्याप्त बारिश का अंदाजा लगाया जा रहा था, लेकिन सावन आते ही जैसे बादल रूठ गए और उनकी दिशा बदल गई। दो-तीन बार हल्की बौछारों और छींटेनुमा बारिश के अलावा विदिशा को अच्छी बारिश का दृश्य तक नहीं दिखा। यही कारण है कि जून में जो नदी-नालों की धार चल पड़ी थी, वह टूट गई। फसलों के जो चंद पत्ते बाहर निकल आए थे, वे पीले पडऩे या कुम्हलाने लगे हैं। पूरा महीना बीत गया, सावन यानी जुलाई की मानें तो जिले में मात्र 151 मिमी बारिश ही हुई है। जबकि पिछले साल जून में मात्र 43.6 मिमी बारिश के बाद भी जुलाई के आखरी दिन तक बारिश का आंकड़ा 361.2 मिमी तक पहुंच गया था। इसके पहले के वर्षोँ में भी जुलाई का आंकड़ा पिछले 6 वर्ष में इतना कम नहीं रहा जितना इस बार रहा है।


वर्ष जून जुलाई
2006 38.0 473.1
2007 158.3 335.0
2008 357.9 219.7
2009 80.5 280.8
2010 140.5 276.2
2011 495.5 380.9
2012 312.0 188.7
2013 372.8 631.9
2014 70.7 312.6
2015 122.4 379.2
2016 125.4 610.8
2017 167.1 333.7
2018 127.3 344.2
2019 43.6 317.6
2020 306.4 151.5
(आंकड़े मिलीमीटर मेें,
स्त्रोत-भू अभिलेख शाखा)

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned