पुष्य नक्षत्र पर कहीं बाजार चमका, कहीं रहीं नाउम्मीदी

Deepesh Tiwari

Publish: Oct, 13 2017 08:59:02 (IST)

Vidisha, Madhya Pradesh, India
पुष्य नक्षत्र पर कहीं बाजार चमका, कहीं रहीं नाउम्मीदी

4 करोड़ का रहा बाजार, सबसे ज्यादा बिके वाहन

विदिशा. धनतेरस के पहले पुष्य नक्षत्र पर बाजार में ग्राहकी का मिलाजुला असर रहा। कुल मिलाकर करीब 4 करोड़ का मूल बाजार रहा। जहां ऑटोमोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स में जमकर खरीदी हुई, वहीं ज्वेलरी और कपड़ा मार्केट अपेक्षाकृत मंदा रहा। बाजार में रौनक थी, लेकिन पुष्य नक्षत्र जैसा कारोबार नहीं हो पाया। फिर भी ऑटोमोबाइल्स में करीब सवा करोड़ और इलेक्ट्रानिक्स में ५० लाख रुपए का कारोबार हुआ। इलेक्ट्रिक आइटम्स, ऑटोमोबाइल्स में धनतेरस के लिए वाहनों की खूब बुकिंग भी आज हुई। ।
सवा करोड़ की दुपहिया बिके ।
पाल इंटरप्रायजेज के मैनेजर आलोक सक्सेना ने बताया कि उनके शोरूम से पुष्य नक्षत्र में ६० गाडिय़ां बिकीं, जो करीब ३३ लाख की हैं। श्रीराम बजाज शोरूम के मैनेजर आलोक कौशिक के मुताबिक उनके यहां ४५ गाडिय़ों की बिक्री हुई है, जो करीब २५ लाख की है। स्पीड बाइक होंडा के मालिक निशांत रघुवंशी ने बताया कि उनकी ५० गाडिय़ां बिकीं, जो करीब २८ लाख रुए की हैं। वहीं रघुवंशी टीवीएस के मालिक विक्रम रघुवंशी के मुताबिक करीब २७ लाख रुपए कीमत की ४५ गाडिय़ां पुष्य नक्षत्र में बिकीं हैेंं। इसके अलावा कुछ अन्य गाडिय़ां भी पुष्य नक्षत्र में बिकीं।



50 लाख के इलेक्ट्रॉनिक्स का बाजार

इलेक्ट्रानिक्स का बाजार भी पुष्य नक्षत्र पर उठाव पर रहा। सुपर स्टोर्स के संचालक दीपक ताम्रकार पुष्य नक्षत्र पर हुए व्यापार से काफी खुश हैं। उनका कहना है कि पिछले साल की तुलना में इस बार व्यापार २५ फीसदी से ज्यादा अच्छा रहा है। सुपर स्टोर्स से एलईडी, वाशिंग मशीन, रेफ्रीजरेटर, ओवर, माइक्रोवेव आदि की करीब १२ लाख रुपए की बिक्री हुई। कई आइटम्स फायनेंस भी हुए। हरिसिंह एंड कंपनी के संचालक विशाल माहेश्वरी का कहना है कि पिछले दस बिन बाद इलेक्ट्रानिक्स में रौनक आई है। पुष्य नक्षत्र की बुकिंग के साथ ही धनतेरस की बुकिंग भी खूब हो रही हैं। मोहता के शोरूम पर शुक्रवार को करीब ६ लाख रुपए के इलेक्ट्रानिक्स आइटम्स की बिक्री हुई।

 

सराफा और कपड़े में रही मंदी

सराफा व्यापारी किशोर सोनी, मनीष चौधरी और शैलेन्द्र सोनी के मुताबिक पुष्य नक्षत्र पर ग्राहकी रोजमर्रा की तरह ही रही। सराफा बाजार में कोई उठाव नहीं था। पिछले साल की तुलना में पुष्य नक्षत्र पर ग्राहकी ३०-४० प्रतिशत ही रही। फिर भी नगर में करीब ५० लाख रुपए के जेवर-सिक्के, चांदी के बर्तन आदि बिके। उधर कपड़ा व्यापारी घनश्याम बंसल के मुताबिक कपड़ा और रेडीमेड वस्त्र व्यापार पुष्य नक्षत्र पर बेअसर रहा। रोजमर्रा की तरह ही खरीदी हुई। मुहुर्त विशेष का कपड़ा बाजार पर कोई असर दिखाई नहीं दिया। शहर में करीब ३० लाख का कपड़ा बिका। इसी तरह करीब ५ लाख रुपए के इलेक्ट्रिक आइटम्स की बिक्री हुई।

 

एक करोड़ के ट्रेक्टर बिके

भले ही फसलें खराब हुई हों, लेकिन फिर भी कुछ किसानों ने पुष्य नक्षत्र पर खरीदी का मौका नहीं चूका। सियाराम एग्रोटेक के संचालक सुरेन्द्र रघुवंशी के मुताबिक उनके शोरूम से करीब ४४ लाख रुपए के ८ ट्रेक्टर बिके। इसी तरह अन्य शोरूम से भी विभिन्न कंपनियों के टे्रक्टरों की बिक्री हुई। यह करीब एक करोड़ रुपए की राशि में बिके।

 

शुभ मुहुर्त में बंगलों की बुकिंग

अपने बंगलों-डुपलेक्स और सिंगलेक्स की बुकिंग के लिए भी लोगों ने पुष्य नक्षत्र को महत्व दिया। बालाजी ग्रुप के संचालक मयंक जैन के मुताबिक बालाजी आर्किड और विनायक हाईट्स में उनके १८ बंगलों की बुकिंग पुष्य नक्षत्र में हुई। जबकि साईं इनक्लेव के मालिक जब्बार भाई ने बताया कि उनके पास दिन भर काफी पूछताछ आईं और तीन बंगलों की बुकिंग भी हुई।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned