शिक्षक विद्यार्थियों के घर-घर जाकर दे रहे गेहूं, चावल

मध्यान्ह भोजन की जगह वितरित हो रहा अनाज

By: Anil kumar soni

Updated: 08 Apr 2020, 07:01 PM IST

लटेरी। कोराना वायरस के संक्रमण के चलते लॉकडाउन में सभी स्कूल बंद हैं। इस कारण सरकार सरकारी प्रायमरी और मिडिल स्कूल में पढऩे वाले इन छात्र-छात्राओं को मध्यान्ह भोजन की जगह गेहूं और चावल दिए जा रहे हैं।

इसके लिए लटेरी के सभी मिडिल और प्रायमरी स्कूल के शिक्षकों को गेहूं, चावल की बोरियां दी गई हैं। यह शिक्षक छात्र-छात्राओं के घर-घर जाकर गेहूं, चावल दे रहे हैं। शिक्षाा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मिडिल स्कूल प्रत्येक विद्यार्थी को चार किग्रा गेहूं और ९५० ग्राम चावल दिया जा रहा है। वहीं प्रायमरी में पढऩे वाले प्रत्येक विद्यार्थी को तीन किग्रा गेहूं और ३०० चावल दिया जा रहा है।

इधर, बीआरसी प्रदीप श्रीवास्तव एवं मध्यान्ह भोजन प्रभारी प्रमोद विश्वकर्मा द्वारा लगातार क्षेत्र में जाकर जांच की जा रही है कि मिडिल, प्रायमरी के इन विद्यार्थियों को सरकार की योजना के तहत अनाज मिल पा रहा है कि नहीं।

आनंदपुर में लॉकडाउन में छोटे-छोटे गांव तक पूरी तरह बंद
पुलिस-प्रशासन लगातार रखे है नजर
आनंदपुर। कलेक्टर के आदेश के बाद अब छोटे-छोटे गांव में भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जा रहा है।
आनंदपुर थाने से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार से बाजार को पूरी तरह से बन्द कर दिया गया है। ऐसे में सिर्फ मेडिकल स्टोर जो प्रशासन द्वारा तय किए गए हैं उनको ही खुला रखा जाएगा। किराना दुकानें पूरी तरह से बन्द रहेगीं। मंगलवार को आनंदपुर से एक युवा नेपाली जमाती, जो मलनिया की मस्जिद में मिला है। उनके सम्पर्क में था। जिसके बाद से आनंदपुर में भी सख्ती कर दी गई है। सब्जी वाले सुबह सात-से 11 तक चलते-फिरते गली-मोहल्लों में सब्जी विक्रय कर सकते हैं। शेष सभी दुकानें बंद रहेंगीं।
इधर, लटेरी बीएमओ नरेश बघेल ने बताया की आनंदपुर से जो युवक मिला है। वह मलनिया मस्जिद के जमातियों के सम्पर्क में था। उसकी भी जांच भोपाल भेजी गई है ।

Anil kumar soni Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned