theft news : जिलेभर की सड़कों पर लगे है 179 कैमरे, फिर भी डेढ़ माह में 30 बाइक चोरी

theft news : जिलेभर की सड़कों पर लगे है 179 कैमरे, फिर भी डेढ़ माह में 30 बाइक चोरी

Satish More | Updated: 29 Jun 2019, 11:42:49 AM (IST) Vidisha, Madhya Pradesh, India

किसी भी जगह, यहां तक घर के सामने भी बाइक खड़ी करने से डरते हैं लोग

विदिशा. पिछले करीब डेढ़ माह से जिले में बाइक चोरी bike theft की घटनाओं में खासा इजाफा हुआ है। शहर district में ही डेढ़ माह में करीब 30 बाइक चोरी 30 bikes theft होने से लोगों में खलबली है। लोग किसी भी जगह, बाजार, ऑफिस, अस्पताल, स्टेशनmarket, office , hospital , station यहां तक कि अपने घरों के सामने भी बाइक खड़ी करके जाने में डरने लगे हैं। आश्चर्य इस बात का है कि शहर में 179 उच्च क्षमता वाले सीसीटीवी कैमरे 179 high capacity CCTV cameras होने और हर चौक-चौराहे पर इनकी उपलब्धता के बावजूद ये घटनाएं कैसे हो रही हैं। अगर हो भी रहीं हैं तो बाइक और बदमाशों की पहचान क्यों नहीं हो पा रही है। बाइक चोर गिरोह के सक्रिय होने की आशंका से पुलिस अधिकारी police officers भी इंकार नहीं कर रहे हैं, लेकिन पुलिस के हत्थे बदमाश नहीं चढ़ पा रहे हैं।


शहर में आपराधिक घटनाओं को रोकने, अपराधों को पकडऩे में मदद के लिए पुलिस ने शहर में अनेक जगह लाखों रुपए खर्च कर सीसीटीवी का जाल बिछाया। अलग-अलग एंगल से घटना को कवर करने वाले उच्च क्षमता वाले कैमरे चौराहों और मुख्य मार्गों पर लगवाए।

 

इसका डिमोस्ट्रेशन जब हुआ था तो उत्साह से यही बताया गया था कि अब कोई अपराध इसकी नजर से बच नहीं सकता। किसी भी मार्ग, चौराहे से जा रही बाइक की नंबर प्लेट भी इससे बहुत साफ तरीके से पढ़ी जा सकती है, लेकिन शुरुआती दो-चार घटनाओं को छोड़ दें तो अपराध की पहचान और अपराधियों की धरपकड़ में इनसे कोई लाभ नहीं मिला।

 

विदिशा शहर की कोतवाली और सिविल लाइन थाने में ही मानें तो करीब डेढ़ माह में 30 बाइक चोरी जा चुकी हैं। स्टेशन हो, जनपद कार्यालय के पास हो या फिर घर के सामने ही बाइक क्यों न रखी हो, लेकिन उनकी चोरी की खबर मिल रही है। पुलिस केवल एफआइआर दर्ज कर अपनी औपचारिकता पूरी कर रही है।x

लगातार बढ़ रही बाइक चोरी की वारदातों पर भी पुलिस का गंभीर न होना समझ से परे हैं। सीसीटीवी कैमरों केे फुटेज नहीं खंगाले जा रहे हैं। हाल ही में 18 जून तक की स्थिति में ही मानें तो पूरे एक माह में 22 बाइक विदिशा से चोरी हुई हैं। इनमें से 12 बाइक कोतवाली क्षेत्र और 8 बाइक सिविल लाइन क्षेत्र की हैं, इसके बाद करीब आठ बाइक और चोरी हुई हैंं, लेकिन इनमें से किसी का भी सुराग नहीं मिल पाया है।

 

न बाइक मिली और न बाइक चुराने वाले। और यह सिर्फ विदिशा का आंकड़ा है। पूरे जिले का आंकड़ा तो और भी चौंकाने वाला होगा। यह बात भी विदिशा के लिए इस कारण महत्वपूर्ण है क्योंकि जिला पुलिस हर बात में सीसीटीवी की दुहाई देती है, लेकिन यदि ये कैमरे चौराहों से गुजरते चोरी के वाहनों पर भी नजर नहीं रख पाएं तो किस काम के। दरअसल इसमें कैमरों की नहीं बल्कि उन पर निगरानी रखने वालों का दोष है कि वे मानीटरिंग नहीं कर पा रहे हैं या बाइक चोरियों को वे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।

वाहन चालकों से अपेक्षा
एसपी वर्मा ने वाहन चालकों से भी अपेक्षा की है कि वे अपने वाहनों को पार्किंग स्थल अथवा सुरक्षित स्थानों पर ही पार्क करें। उन्होंने वाहन चालकों से बाइक अलार्म लगवाने और बीमा सुनिश्चित कराने की अपेक्षा भी की है। उन्होंने कहा है कि वे चोरी की सूचना थाने में देते समय सीसीटीवी फुटेज देखे जाने की भी मांग करें और उसमें सहयोग भी करें।

 

एसपी विनायक वर्मा ने बाइक चोरी की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए अपने स्टॉफ को निर्देश दिए हैं और जनता से भी अपेक्षा की है। एसपी ने कहा है कि बाइक चोरी को जघन्य अपराध माना जाए और वाहन चोरी की घटनाओं में वाहनों की प्राथमिकता से तलाश करें। पार्किंग स्थलों पर सख्त निगरानी हो और वाहन चैकिंग करते समय वाहन चालकों से ये भी अ'छी तरह पूछताछ कर सुनिश्चित करें कि वाहन चोरी के तो नहीं हैं। सीसीटीवी कैमरों पर फोकस करें और प्रशिक्षण में तकनीक को ज्यादा फोकस किया जाए।

 


यह सही है कि पिछले कुछ दिनों में बाइक चोरी की घटनाएं बढ़ी हैं। संभव है कि इसके पीछे किसी गिरोह का हाथ हो। अब इस दिशा में फोकस किया जा रहा है। हम सीसीटीवी फुटेज खंगाल रहे हैं। जल्दी ही इन चोरियों का पर्दाफाश हो सकेगा।
भारत भूषण शर्मा, सीएसपी विदिशा

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned