साल भर में एक बार दर्शन देने वाली राधारानी के दरबार में इस वर्ष प्रवेश नहीं

राधाष्टमी 26 को, दरबार खुलेगा लेकिन ऑन लाइन ही होंगे दर्शन

By: govind saxena

Published: 24 Aug 2020, 10:54 PM IST

विदिशा. राधाष्टमी यानी राधारानी का जन्मोत्सव 26 अगस्त को मनाया जाएगा। इस दिन नंदवाना स्थित राधारानी का मंदिर दर्शनार्थियों के लिए साल भर मेें एक ही बार खुलता है, लेकिन कोरोना संक्रमण ने राधा रानी के भक्तों को इस एक दिन भी मंदिर पहुंचने और राधारानी के दर्शन करने से वंचित कर दिया है। प्रशासन और मंदिर प्रबंधन के बीच हुई चर्चा के बाद यह तय हुआ है कि मंदिर तो परंपरा अनुसार खुलेगा, लेकिन आम दर्शनार्थियों को प्रवेश नहीं मिलेगा। केवल मंदिर प्रबंधन से जुड़े परिवार की राधारानी का जन्मोत्सव मनाएंगे। हालांकि राधाजी के जन्म और जन्म आरती के साथ ही दरबार दर्शन ऑन लाइन कराने के इंतजाम किए जा रहे हैं।


मथुरा, वृृन्दावन और बरसाने में भले ही राधारानी के दर्शन भक्तों को साल भर होते हैं, लेकिन विदिशा के नंदवाना स्थित राधारानी का दरबार भक्तों के लिए साल भर में एक ही बार राधाष्टमी को खुलता है। इस बार राधाष्टमी 26 अगस्त को है, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते राधा रानी के दर्शन भक्तों को इस दिन भी नहीं हो सकेंगे।

मुगलों के डर से छिपाकर रखीं थीं राधारानी की निधियां
मंदिर के पुजारी मनमोहन शर्मा बताते हैं कि नंवादान की वृंदावन गली में स्थित राधावल्लभीय हवेली में राधा जी की साढ़ेे तीन सौ साल पुरानी निधियां हैं। मुगलों के डर से इन निधियों को छिपते छिपाते हमारे पूर्वज वंृदावन से यहां लेकर आए थे, तभी से छिपाकर राधारानी की गुप्त सेवा यहां होती है। वर्षभर वृन्दावन के आचार्यों के निर्देशों और ग्रंथों के मुताबिक राधारानी की पूजा, श्रंगार और पद गाए जाते हैं।

राधाजी के छठी और दस्टोन का उत्सव
राधारानी के सेवक मनमोहन शर्मा और उनका परिवार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के बाद त्रयोदशी से लगातार मंदिर में बधाई का गायन करते हैं। इस दौरान राधाष्टमी पर राधा जी का जन्मोत्सव, जन्म आरती, पालना उत्सव, मटकी छेदन, राधा जी की छठी और दस्टोन का उत्सव भी होता है। जन्मोत्सव के दिन राधारानी को सोने, हीरे, पन्ना और माणक के आभूषणों से सजाया जाएगा।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned