कोरोना से डॉ पद्म जैन सहित दो की मौत, 33 नए संक्रमित मिले

जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या हु़ई 10, इसमें से 8 विदिशा शहर के

By: govind saxena

Published: 13 Aug 2020, 09:29 PM IST

विदिशा. कोरोना के कहर से पूरा जिला परेशान है। जिले में गुरूवार को फिर बुरी खबर आई। नगर के जाने माने सेवाभावी चिकित्सक और कई सामाजिक संस्थाओं से जुड़े डॉ पद्म जैन की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। इसके अलावा वाल्मिकी मोहल्ला निवासी एक 50 वर्षीय महिला डॉली वाल्मिकी ने भी कोरोना से दम तोड़ दिया। डॉ जैन की मृत्यु से पूरा शहर स्तब्ध है। उधर गुरूवार को आई रिपोर्ट में 33 नए पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से विदिशा के 21, गंजबासौदा के 3, कुरवाई के 4 तथा लटेरी के 5लोग शामिल हैं। शहर के एक और वरिष्ठ चिकित्सक एमएस राजपूत भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

विदिशा के यहां मिले हैं नए संक्रमित
विदिशा में तोपपुरा में 1, हरिपुरा मेें 5, पीतलमिल चौराहे पर 1, रॉयल सिटी जेल के पीछे 3, काछी मोहल्ला 1, रघुवंशी धर्मशाला के पास 1, लोहांगी मोहल्ला 1, न्यू बस स्टेंड 2, किले अंदर 1, कपूर गार्डन के पास 1, पुराने अस्पताल के पीछे 4, बैस दरवाजा के पास 1 नया संक्रमित मिला है।

सुबह गए थे इंदौर शाम को दम तोड़ा
डॉ पद्म जैन कैसे संक्रमित हुए इस बारे में स्पष्ट कुछ नहीं कहा जा रहा है। लेकिन उनकी तबियत बिगडऩे पर डॉ भव्य अतुल शाह ने उन्हें एक्स रे कराने और फिर एक्स रे देखकर कोविड टेस्ट कराने की सलाह दो दिन पहले ही दी थी। इस पर बुधवार को विदिशा में डॉ जैन का सैंपल लिया गया था। रिपोर्ट आती इससे पहले ही उन्हें इंदौर में बेहतर उपचार के लिए सुबह करीब 5 बजे भेज दिया गया। शाम करीब 5 बजे उनके निधन की सूचना आ गई। उनकी मौत की सूचना के साथ ही उनके कोरोना पॉजिटिव होने की रिपेार्ट भी सीएमएचओ कार्यालय से जारी हुई। डॉ जैन का अंतिम संस्कार इंदौर में ही देर शाम कर दिया गया। उनके निधन से पूरे शहर में शोक की लहर है।


सस्ता इलाज और सेवा कार्यों में जाने जाते थेे डॉ जैन
75 वर्षीय डॉ पद्म जैन वरिष्ठ चिकित्सक और पत्रकार रहे है। वे लोगों के सस्ते इलाज तथा सेवा कार्यों के लिए जाने जाते थे। उनके खरीफाटक स्थित क्लीनिक पर 10-50 रूपए में इलाज कराने के लिए भारी भीड़ आती थी। वे एसएसएल जैन परमार्थिक न्यास के चेयरमेन थे, वे लंबे समय तक महाराजा जीवाजीराव एज्यूकेशन सोसायटी के कोषाध्यक्ष, रतनशी शाह स्मृति न्यास के अध्यक्ष, चंद्रप्रभु जैन मंदिर के कार्यकारी अध्यक्ष, केसरबाई औषधालय और शीतल विहार न्यास आदि से जुड़े रहने के साथ ही नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन और रोटरी क्लब से भी जुड़े रहे हैं। डॉ पद्म जैन विदिशा के मशहूर चिकित्सकों में गिने जाते थे और समाज तथा धर्म के कार्यों में वे आर्थिक रूप से भी मदद करते थे।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned