दो साल बाद मिली क्लेम राशि तो आंखों से झलक आए आंसू

दो साल बाद मिली क्लेम राशि तो आंखों से झलक आए आंसू

Krishna singh | Publish: Dec, 09 2018 06:06:06 AM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

नेशनल लोक अदालत में हुआ 718 मामलों का निराकरण

विदिशा. नेशनल लोक अदालत में कुल 718 मामलों का निराकरण हुआ और समझौता शुल्क 1 करोड़ 54 लाख 18 हजार 903 रुपए जमा हुआ। इस दौरान वर्षों से लंबित कई मामलों का निराकरण हुआ। ऐसे ही एक मामले में सड़क हादसे में पति की मौत के बाद नेशनल अदालत में आए मामले में जिला सत्र न्यायाधीश श्यामाचरण उपाध्याय ने क्लेम राशि पत्नी को दिलवाई, तो उसकी आंखों से आंसू झलक आए।

 

सुबह साढ़े दस बजे जिला सत्र न्यायाधीश उपाध्याय ने नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ किया। इस दौरान वे विभिन्न काउंटर पर गए और व्यवस्थाओं को देखा और लोगों से भी चर्चा की। इस दौरान नेशनल लोक अदालत में जिला सत्र न्यायाधीश के कोर्ट में किलेंदर निवासी दीपक रायकवार की सड़क हादसे में नौ दिसम्बर 2016 में मौत हो गई थी का मामला आया। न्यायाधीश ने मामले में समझौता कराया और उन्हें 8 लाख 40 हजार रुपए की क्लेम राशि मिलना तय हुआ, तो मृतक कि पत्नी बबिता रायकवार की आंखों में आंसू झलक आए। जिला सत्र न्यायाधीश ने उन्हें इस राशि को को सुरक्षित रखने के लिए बैंक में जमा कराने और एफडी आदि करवाने की सलाह दी। वहीं बबिता ने बताया कि उनकी इस राशि का उपयोग वे अपनी बेटी के लालन-पालन में करेंगीं। इसी तरह अन्य मामलों में निराकारण हुए।

 

16, 377 रखे थे मामले
जिला विधिक सहायता प्राधिकरण के अनीश उद्दीन अब्बासी ने बताया कि न्यायालय संबंधी और प्रीलिटीगेशन के कुल 16 हजार 377 मामले जिलेभर की 20 खंडपीठों में रखे गए थे। इनमें से 718 मामलों का निराकरण हुआ। इस दौरान परिसर में न्यायाधीश, वकीलों के साथ बड़ी संख्या में पक्षकार नजर आए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned