तालाब किनारे गड्ढे खोदकर पानी पीने को मजबूर ग्रामीण

बस्ती में नहीं है हेण्डपंप, ग्रामीण जूझ रहे समस्याओं से

By: govind saxena

Published: 10 May 2020, 07:35 PM IST

विदिशा. ग्यारसपुर तहसील के ग्राम पुरागुसाईं में बनवा तालाब किनारे की बस्ती। यहां बसे ग्रामीणों को पीने का पानी का कोई इंतजाम नहीं है। कहने को यहां तालाब है, लेकिन गंदा हो चुका इसका पानी अब सिर्फ मवेशियों के ही काम आता है। यह पानी ग्रामीण उपयोग पीने के लिए उपयोग नहीं करते। दशकों से ये मजदूर वर्ग के लोग गंदे तालाब के किनारे छोटे-छोटे गड्ढे खोदकर(झिरिया) तालाब से रिसकर आने वाले गंदे पानी को ही पीने के काम में लेते हैं। तालाब सूखने के बाद यहां के हालात और बिगड़ जाते हैं। मजदूरों की इस बस्ती में बच्चों और महिलाओं का ज्यादातर समय इन गड्ढों से पीने के पानी का इंतजाम करने में ही बीतता है। इस बस्ती में न कोई कुआ है और न ही हेंडपंप। बस्ती की सुमित्राबाई, रामाधार सिंह, नाथूलाल आदि का कहना है कि वर्षों बीत गए लेकिन हमारी बस्ती में पानी के लिए कोई इंतजाम न नेताओं ने कराए और न अधिकारियों ने।


वर्जन....
इस बस्ती में जलसंकट की जानकारी मिली है। कई वर्षों पुरानी समस्या है। पूरी कोशिश होगी कि इसी साल यह समस्या खत्म हो और ग्रामीणों को पेयजल का साधन उपलब्ध कराया जाए।
-डॉ पंकज जैन, कलेक्टर विदिशा

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned