जल व्यवस्था पर खर्च होंगे 35 करोड़

नपा ने पेश किया 3 अरब 86 करोड़ का बजट : करोड़ों के कार्य मिनटों में स्वीकार, विधायक भी मौजूद रहे बैठक में

By: Krishna singh

Published: 03 Mar 2019, 06:03 AM IST

विदिशा. नगरपालिका ने वर्ष 2019-20 का बजट पेश किया। इसमें अनुमानित आय 3 अरब 86 करोड़ 96 लाख 53 हजार 502 रुपए एवं अनुमानित व्यय 3 अरब 86 करोड़ 51 लाख 49 हजार 737 का तैयार किया गया। करीब 5 लाख 3 हजार 765 की बचत का बजट पेश किया गया। बजट में किसी तरह का नया कर नहीं लगाया गया है। नगरपालिका पेयजल व्यवस्था पर करीब 35 करोड़ रुपए खर्च करेगी। नपाध्यक्ष मुकेश टंडन ने बताया कि नपा वर्तमान एवं भविष्य के जलसंकट को देखते हुए कार्य कर रही है। इसके तहत यह राशि पानी के टैंकर, हैंडपंप उत्खनन, करीब 5 हजार नल कनेक्शन आदि कार्य के अलावा नए फिल्टर प्लांट को तैयार कराने में खर्च की जाएगी।

 

बैठक में शहर के विकास संबंधी कार्यों का एजेंडा रखा गया। इसमें वार्डों में नालियों, सड़कों, पेबर ब्लाक, पेयजल, बिजली आदि बुनियादी सुविधाओं संबंधित कार्यों के प्रस्ताव स्वीकृति के लिए रखे गए जो जो कुछ ही मिनटों में स्वीकार हो गए। इस दौरान पार्षद डालचंद अहिरवार, केके गुप्ता, राजेश नेमा आदि ने भी शहर के विकास में अपने सुझाव दिए एवं संपत्तिकर की विसंगतियां दूर करने की बात रखी जिन्हें स्वीकार किया गया।

 

बैठक में विधायक ने गिनाई समस्याएं
इ स दौरान विधायक शशांक भार्गव ने कहा कि मैं बजट बैठक के हिसाब से नहीं आया। मैं तो शहर में सफाई की व्यवस्था में सुधारने की बात करने आया हूं। उन्होंने कहा कि नालों की सफाई नहीं हो रही। जहां रोड बनना है वहां तेजी से कार्य कराया जाए। इस दौरान उन्होंने जलसंकट, जल भराव क्षेत्र, यातायात, बैतवा में मिलने वाली गंदगी, सोठिया पर जहां जगह दी गई वहीं कचरा डालने आदि की तरफ नपाध्यक्ष का ध्यान दिलाया। वहीं शहर व नदी की स्वच्छता में सभी से सहयोग की अपेक्षा जताई। इस दौरान उन्होंने यातायात की समस्या हल करने के लिए अस्पताल मार्ग से मैदामिल की ओर एवं खरीफाटक से शेरपुरा को जोड़ते हुए फ्लाई ओवर ब्रिज क लिए प्रयास करने को कहा।

 

विधायक प्रतिनिधि नाराज होकर गए
परिषद की बैठक के दौरान विधायक प्रतिनिधि प्रदीप गुप्ता कुछ बोलने के लिए खड़े हुए, लेकिन नपाध्यक्ष टंडन ने कहा आप नहीं बोल सकते। गुप्ता का कहना रहा तो क्या में चला जाऊं। टंडन बोले विधायक बैठे हैं उनकी गरिमा का ध्यान रखें। गुप्ता ने इस बात पर नाराजी जताई कि बैठक में पूर्व की बैठक के प्रस्तावों पर चर्चा होना थी, क्यों नहीं की जा रही। टंडन खामोश रहे और उनकी बात को अनसुना करते हुए बजट प्रस्तावों पर लगातार बोलते रहे। इससे नाराज होकर गुप्ता बैठक से बाहर आ गए। गुप्ता का कहना है कि उन्हें इस बैठक के लिए पत्र मिला था इसलिए वे आए। बैठक में पूर्व बैैठक की पुष्टि न कर अध्यक्ष सीधे प्रस्तावों पर बात करने लगे। पुराने प्रस्तावों पर चर्चा नहीं की। उन्होंने वे सीवेज लाइन, प्रधानमंत्री आवास के भुगतान, स्वच्छ भारत अभियान व अनावश्यक खरीदी व गड़बडिय़ों पर सवाल उठाना चाहते थे, लेकिन उन्हें बोलने का मौका नहीं दिया गया। उन्होंने इस बैठक को अवैध बताते हुए कहा कि इसकी शिकायत विहित अधिकारी कलेक्टर से की जाएगी।

 

यह रहे प्रमुख प्रस्ताव
-नगरीय क्षेत्र में करीब 25 करोड़ का नया फिल्टर प्लांट सौराई में बनेगा। इससे रेल लाइन पार के क्षेत्रों में पानी की बड़ी समस्या दूर होगी।
-बस स्टैंड पर आने वाले वाहनों पर पार्किंग शुल्क लगाएंगे।
-रंगियापुरा स्थित मंगल भवन वृद्धाश्रम संचालन के लिए दिया जाएगा।
-वार्ड-25 में एलआईसी ऑफिस के बगल में करीब 44 लाख 53 हजार 159 रुपए की लागत से बास्केटबॉल कोर्ट का निर्माण कार्य होगा।
-मिर्जापुर व तमोरिया स्कूल में बाउंड्रीवाल एवं पेबर ब्लाक के कार्य होंगे।
-वार्ड-36 में करीब 15 लाख की लागत से तीन पार्कों का विकास भी।
-शहर के लगभग सभी वार्डों में सड़क, नालियों, बिजली, पेबर ब्लाक आदि के कार्य किए जाएंगे।
-ओवर हेड टैंक, गौशाला निर्माण, प्रमुख चौराहों का सौंदर्यीकरण, फायर स्टेशन निर्माण आदि आवश्यक कार्य होंगे।

Krishna singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned