अप्रशिक्षित डॉक्टर के इंजेक्शन से महिला की मौत, डॉक्टर भागा

उनारसीकलां का मामला

By: govind saxena

Updated: 13 Sep 2021, 10:55 PM IST

लटेरी. ग्राम उनारसीकलां में एक अप्रशिक्षित चिकित्सक द्वारा इंजेक्शन लगाए जाने के दो मिनट बाद ही उसके क्लीनिक पर दम तोड़ दिया। चिकित्सक ने उसे आरोन ले चलने को कहा, खुद भी साथ गया, लेकिन आरोन पहुंचते ही डॉक्टर भाग गया। परिजनों ने अप्रशिक्षित डॉ. दुर्गेश यादव की शिकायत की है। थाना प्रभारी ने कहा है कि मृतका के परिजनों ने डॉक्टर पर आरोप लगाए हैं, फिलहाल मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।


घटना उनारसीकलां की है। एक महिला 32 वर्षीय अरुण कुमारी यादव के हाथ में मही बनाने वाली मशीन से हाथ में चोट लग गई थी, जिसके चलते महिला अप्रशिक्षित डॉ. दुर्गेश यादव के क्लीनिक पर उपचार के लिए गई थी। अरुण कुमारी के परिजन नेतराम ने बताया कि उस दिन डॉ. दुर्गेश ने महिला की मरहम पट्टी कर उसे गोली देकर वापस कर दिया था, लेकिन आराम न मिलने पर रविवार को महिला फिर उसके क्लीनिक आई तो डॉ. दुर्गेश ने उसे इंजेक्शन लगा दिया। परिजनों का आरोप है कि हमने मना भी किया था कि इंजेक्शन मत लगाओ, लेकिन डॉक्टर ने कहा कि इससे जल्दी आराम पड़ जाएगा। इंजेक्शन लगाने के करीब दो मिनट बाद ही उसके मुंंह से झाग निकलने लगा और वहीं क्लीनिक पर उसकी मौत हो गई। यह देख जब परिजनों ने डॉक्टर से घबराकर इसके बारे में पूछा तो डॉ. दुर्गेश ने उसे आरोन ले जाने को कहा। आनन फानन में महिला को आरोन ले जाया गया, जिस गाड़ी से उसे आरोन ले गए, उससे ही डॉक्टर भी आरोन गया, लेकिन परिजनों का आरोप है कि आरोन पहुंचते ही डॉक्टर भाग गया। इसके बाद आरोन अस्पताल में चिकित्सक ने महिला को मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद परिजनों ने मामले की शिकायत उनारसीकलां थाने में की। थाना प्रभारी आरबी स्वामी ने बताया कि मृतका के परिजनों ने डॉक्टर पर अरुण कुमारी को मारने का इल्जाम लगाया है, फिलहाल मर्ग कायम किया गया है, पीएम रिपोर्ट आने के बाद आगे जांच की जाएगी।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned