टाइम ट्रैवल में माहिर थे निकोला टेस्ला, अचानक गायब होकर लोगों को देते थे चकमा

  • Nicola Tesla Time Travel : निकोला टेस्ला ने दावा किया कि उन्होंने भूतकाल और भविष्यकाल में यात्रा की हैं
  • एक लड़ाकू जहाज पर किया था प्रयोग, मैग्नेट से दिया था चकमा

By: Soma Roy

Published: 12 Mar 2020, 09:03 AM IST

नई दिल्ली। टाइम ट्रैवल (time travel), जिसमें लोग भूतकाल और भविष्यकाल में जा सकते हैं। ये गुत्थी आजतक लोगों के लिए एक रहस्यमयी विषय है। ऐसे में यूनाइटेड स्टेट के महान वैज्ञानिक निकोला टेस्ला ने इसके लिए एक खास मशीन बनाई थी। बताया जाता है कि वे अचानक अपनी जगह से गायब हो जाया करते थे। उनकी इन्हीं हरकतों के चलते लोग उन्हें रहस्यमयी (mysterious) मानते थे।

सफेद जिराफ और उसके बच्चे को उतारा मौत के घाट, खत्म होने की कगार पर दुर्लभ जानवर का वजूद

साल 1856 में पैदा हुए निकोला टेस्ला ने दुनिया के लिए कई अहम आविष्कार किए। जिससे लोगों को काफी फायदा मिला। इनमें इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स से लेकर कई दूसरी जरूरत की चीजें शामिल हैं। वे एक वैज्ञानिक होने के साथ सफल केनिकल, इलेक्ट्रिकल और फिजिकल इंजीनियर भी थे। निकोला टेस्ला ने दावा किया था कि वे टाइम ट्रैवल में सफल हुए हैं। उन्होंने अपने अनुभव को साझा करने के लिए एक किताब भी लिखी थी।

टेस्ला ने अपने इस हुनर का प्रयोग 4 अक्टूबर 1943 में एक लड़ाकू जहाज यूएसएस-एल्ड्रिज पर किया था। इस प्रयोग को फिलाडेल्फिया डॉकयार्ड पर किया गया। टेस्ला (Nicola Tesla) के साथ इस काम में दूसरे वैज्ञानिकों ने भी मदद की। बताया जाता है कि जहाज को गायब कर नाजियों को चकमा देने के लिए जहाज के चारों तरफ कई हजार वोल्ट के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक कॉइल लगाए गए थे।धीरे-धीरे उस जहाज पर लगाए हुए जनरेटर की मदद से बिजली की वोल्टेज बढ़ाई जाने लगी। जैसे ही बिजली साढ़े तीन मिलियन के पार पहुंची तो एक हरे रंग की रौशनी हुई और जहाज पूरी तरह से 'अदृश्य' हो गया। उसे वहां मौजूद रडार भी ट्रैक नहीं कर पाया। कुछ लोगों का कहना है कि जहाज को बाद में वर्जीनिया में देखा गया। जहाज में मौजूद ज्यादातार क्रू-मेंबर्स की मौत हो चुकी थी। जबकि जो लोग ठीक थे उनकी दिमागी हालात खराब हो चुकी थी। माना जाता है कि ये सभी समय यात्रा करके लौटे हैं।

nicola.jpg

जहाज में सफर करने वाले कुछ यात्रियों का दावा था कि जहाज साल 1943 में गायब हुआ था। जबकि वे साल 1983 के समय में पहुंच गए थे। तब दुनिया काफी डेवलप हो गई थी। टाइम ट्रैवल की इस गुत्थी को सुलझाने के सिलसिले में मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन ने भी एक थ्योरी दी थी। उन्होंने सन 1915 में 'थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी' में समय और गति के बीच के संबंध को समझाया गया था। निकोला टेस्ला ने भी ये दावा किया था कि उन्होंने एक ही समय में भूत, भविष्य और वर्तमान देखा है।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned