50 साल से अजीब मुसीबत झेल रहा ये परिवार, दस कदम चलते ही होता ​है कुछ ऐसा

50 साल से अजीब मुसीबत झेल रहा ये परिवार, दस कदम चलते ही होता ​है कुछ ऐसा

Arijita Sen | Publish: May, 18 2018 08:33:06 AM (IST) अजब गजब

अपने देश में स्थित ये घर दो राज्यों की सीमा पर स्थित है। घर के कमरे किसी एक राज्य में हैं तो आंगन किसी दूसरे राज्य में है।

किसी भी इंसान को सबसे ज्यादा सुकून अपने घर में ही मिलता है। अपनी क्षमता और आराम को देखते हुए इंसान अपने घर का निर्माण करवाता है। अब तक शायद आपने ऐसे कई तरह के घर देखे होंगे जिन्हें देखकर आपको हैरानी जरूर हुई होगी।

आज हम आपको एक ऐसे ही घर के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको और भी ज्यादा हैरत में डाल देगा।

बता दें ये घर पूरे दो राज्यों में फैला हुआ है। इन दो राज्यों के नाम हैं राजस्थान और हरियाणा। इन दोनों राज्यों की सीमा पर स्थित इस घर के 8 कमरे हरियाणा में हैं तो वहीं आंगन राजस्थान में स्थित है।

पानी के लिए नल राजस्थान की सीमा पर लगा हुआ है लेकिन ये पानी हरियाणा में रखी टंकी में भरा जाता है। आपको बता दें ये अनोखा घर हरियाणा के रेवाड़ी जिले के धारूहेड़ा और राजस्थान के भिवाड़ी की सीमा पर बना हुआ है। घर में बिजली का कनेक्शन भी दो राज्यों से लिया गया है। मकान में बिजली राजस्थान से आती है और घर के बाहर स्थित दुकानों में हरियाणा का कनेक्शन लगा हुआ है।

5 हजार वर्गमीटर की जमीन पर फैले इस मकान का करीब एक हजार वर्गमीटर हिस्सा हरियाणा में है। वैसे तो इस घर में रहने वाले लोगों को इन सबसे कोई खास परेशानी नहीं होती है लेकिन मोबाइल के इस्तेमाल में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है।

घर में दस कदम चलो तो रोमिंग लग जाता है। एक बार फोन पर ये मैसेज आता है कि हरियाणा के नेटवर्क में आपका स्वागत है वही थोड़ी ही देर बाद राजस्थान के नेटवर्क में आपका स्वागत है का मैसेज आता है।

unique home

बता दें इस घर में लोग करीब 50 साल से रह रहे हैं। इसके अलावा दूसरी सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात ये है कि इस घर की तरह यहां रहने वाले लोग भी काफी रोचक है। इस घर के दो सदस्य नगर पार्षद है लेकिन अलग-अलग राज्यों के नगर निकायों के। जी, हां जहां चाचा कृष्ण दायमा हरियाणा की धारूहेड़ा नगर पालिका के पाष्रद है वही भतीजा हवा सिंह राजस्थान के भिवाड़ी में पार्षद हैं। घर में दोनों राज्यों के ही मतदाता हैं।

unique home

कृष्ण दायमा के अनुसार करीब एक दशक पहले उनका नाम राजस्थान की वोटिंग लिस्ट में था। साल 2008 में उन्होंने वहां से अपना नाम हटा कर हरियाणा में जोड़ लिया। कृष्ण दायमा के भतीजे हवासिंह और उनकी पत्नी सहित माता-पिता व दादी के वोट राजस्थान में ही हैं। वाकई में इन सारी बातों को जानने के बाद कोई भी ये कहने को मजबूर होगा कि वास्तव में ये घर अजब-गजब है।

unique home
Ad Block is Banned