पिरामिड के बगल से आ रही थी डरावनी आवाज़े, खुदाई की गयी तो सामने आया बड़ा रहस्य

हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें आर्कियोलॉजिस्ट को एक पिरामिड के बगल में गुप्त मकबरा मिला है।

By: Vineet Singh

Published: 30 Dec 2018, 08:40 AM IST

नई दिल्ली: जैसा की आप सभी लोग जानते हैं कि मिस्र में पिरामिड्स की भरमार है, इन पिरामिड्स में उस ज़माने के राजाओं और पुजारियों को दफनाया जाता था साथ ही उनकी प्रिय वस्तुओं को भी इन पिरामिड्स को जगह दी जाती है। बता दें कि मिस्र में ना सिर्फ पिरामिड्स बल्कि उनके आस-पास की जगहों पर भी शवों को दफनाया जाता था और ऐसा इसलिए किया जाता था कि इन मकबरों को सुरक्षित रखा जा सके, दरअसल यहां के लोग दावा करते हैं कि इन मकबरों से श्राप जुड़े होते हैं जिसकी वजह से इन्हें छिपाकर बनाया जाता है। हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें आर्कियोलॉजिस्ट को एक पिरामिड के बगल में गुप्त मकबरा मिला है।

दरअसल यह मकबरा मिस्र में काहिरा के पास सक्कारा प्रांत में मौजूद पिरामिडों के पास मिला है। दरअसल एक पुराने पिरामिड के पास जब आर्कियोलॉजिस्ट की एक टीम चहल कदमी कर रही थी तब जमीन के नीचे से भयानक सी आवाज़ आने लगी। इस आवाज़ को सुनकर वहां मौजूद लोग काफी डर गए थे, यह आवाज़ लगातार जमीन के नीचे से आ रही थी और रुकने का नाम नहीं ले रही थी ऐसे में आर्कियोलॉजिस्ट की टीम ने यहां पर खुदाई करने का फैसला किया।

ज़मीन में खुदाई करने पर पता चला कि वहां पर जमीन के नीचे एक पुराना मकबरा छिपा हुआ था। इस मकबरे को तकरीबन 4400 साल पहले बनाया गया रहा होगा। खुदाई में मिले इस मकबरे के अंदर शानदार रंगबिरंगी नक्काशी की गयी है साथ ही यहां पर विशालकाय मूर्तियां भी लगाई गयी हैं।

इस मकबरे की खोज के बाद विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ये मकबरा किसी बड़े धर्मगुरु का हो सकता है। अभी इस मकबरे की खुदाई का काम पूरा नहीं हुआ है ऐसे में इस मकबरे से जुड़े और भी कई राज़ खुलने बाकी हैं।

Vineet Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned