पड़ोस की ही तीन लड़कियों को इस शख्स ने 10 साल तक घर में रखा था कैद, तीनों के साथ करता था यह जुल्म

पड़ोस की ही तीन लड़कियों को इस शख्स ने 10 साल तक घर में रखा था कैद, तीनों के साथ करता था यह जुल्म

Priya Singh | Publish: Mar, 06 2019 04:51:10 PM (IST) | Updated: Mar, 06 2019 04:51:11 PM (IST) अजब गजब

  • एरियल कास्त्रो अपहरण कांड ने हिलाकर रख दिया पूरी दुनिया को
  • लगभग 11 साल तक कैद कर करता रहा जुल्म
  • आज भी लड़कियों को आते हैं बुरे सपना

नई दिल्ली। साल 2002 में हुए एरियल कास्त्रो अपहरण कांड ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था। साल 2002 और 2004 के बीच तीन युवतियों मिशेल नाइट, अमांडा बेरी, और जॉर्जिना "जीना" डीजेस को एरियल कास्त्रो नाम के एक शख्स ने अपने घर में बंदी बनाकर रखा था। यह घटना अमरीका राज्य के क्लीवलैंड के ट्रेमोंट के पास की हैं जिसे यहां के लोग मरते दम तक भूल नहीं पाएंगे। आरोपी एरियल कास्त्रो ने इन तीनों लड़कियों को मई, 2013 तक कैद कर रखा था। 2013 के पहले इन लड़कियों की कभी हिम्मत नहीं हुई कि वे एरियल कास्त्रो के चंगुल से निकल जाएं। क्लीवलैंड के ओहियो की इस घटना में पूरे दस साल बाद तब मोड़ आया जब अमांडा बेरी ने अपनी छह साल की बेटी के भविष्य को बचाने के लिए हिम्मत दिखाकर वहां से निकलने की ठानी। 6 मई 2013 को अमांडा बेरी अपनी बेटी के साथ वहां से भाग निकलने में कामयाब रही।

यह भी पढ़ें- इस परिवार ने घर में पाले थे तीन-तीन शेर, इतिहास के पन्नों पर आज भी दर्ज है एक काली रात

 

Ariel Castro kidnappings

10 साल से एरियल कास्त्रो की गुलाम बनकर रहने वाली अमांडा ने वहां से निकल कर पुलिस से संपर्क किया। 10 साल से इन तीनों लड़कियों को ढूंढने वाली पुलिस ने तुरंत एक्शन लेकर नाइट और डीजेस को भी बचाया और कास्त्रो को घंटों के भीतर गिरफ्तार कर लिया गया। साल 2002 और 2004 के बीच इन तीनों लड़कियों को कास्त्रो ने लिफ्ट देने के बहाने किडनैप किया था। उसने तीनों को किडनैप कर उन्हें अपने घर की छत पर बने कमरे में रखा था। वह उन्हें डराता धमकाता और उनके साथ बदसलूकी भी करता था। लगभग 11 साल के इस बुरे सपने के खत्म होने पर इन तीनों लड़कियों के परिवार में जो खुशी का महल था उसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता।

यह भी पढ़ें- फोटो में दिखने वाली लड़की ने रोक दी थी सबकी सांसें, 50 साल बाद खोला अपने परिवार के गायब होने का राज

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned