बच्चे ने निगल लिया LED बल्ब, एक्सरे देख उड़े डॉक्टर के होश

  • एलईडी बल्ब ( Led Bulb ) निगलने के कुछ देर बाद ही बच्चे को गले और सीने में तेज दर्द होने लगा और उसे लगातार खांसी भी होने लगी।

Piyush Jayjan

08 Feb 2020, 09:10 AM IST

नई दिल्ली। कई बार बच्चे खेल-खेल में ऐसी हरकत कर देते है जो उनके लिए परेेेेशानी का सबब बन जाती है। आमतौर पर किसी भी बच्चे का मन खेलने में ही लगता है लेकिन खेल-खेल में ही कई बार ऐसी बच्चे ऐसी गलती कर बैठते हैं जिससे उनकी जान पर बन आती है।

ऐसा ही एक मामला हरियाणा ( Haryana ) के फरीदाबाद ( Faridabad ) में देखने को मिला। जहां एक बच्चे ने खेलते वक़्त खिलौने ( Toys ) में लगने वाले एलईडी बल्ब को ही निगल लिया। बल्ब निगलने के कुछ देर बाद ही उस बच्चे को गले और सीने में तेज दर्द होने लगा और उसे लगातार खांसी भी होने लगी।

कोरोनावायरस के डर से घर में कैद धावक फिटनेस के लिए 50 किमी दौड़ा

बच्चे की परेशानी देख घरवाले उसे डॉक्टर ( Doctor ) के पास ले गए, पहले तो बच्चे को खांसी की आम दवा ( Medicine ) दे दी गई। लेकिन दवा देने के बाद भी बच्चे की खांसी नहीं रुकी और बच्चे ने सीने में तेज दर्द होने की शिकायत की, जिसके बाद घरवाले बच्चे को फिर से अस्पताल ( Hospital ) लेकर गए।

इसके बाद डॉक्टरों की टीम ने आपस में विचार-विमर्श किया। जिसके बाद बच्चे के सीने का एक्सरे ( X- Ray ) किया गया। एक्सरे की रिपोर्ट देखकर डॉक्टरों के होश उड़ गए। एक्सरे में पता चला कि बच्चे के सांस नली और फेफड़े के बीच कोई चीज फंसी हुई थी। जिस वजह से बच्चे को सीने में तेज दर्द हो रहा था।

इस तरह की समस्या होने पर डॉक्टर ऑपरेशन के जरिए उस चीज को बाहर निकाल देते हैं। लेकिन बच्चे की कम उम्र को देखते हुए ऐसा करना संभव नहीं था। इसके बाद टीम ने बच्चे को बेहोश कर एक खास उपकरण को उसके मुंह के रास्ते अंदर डाल फंसी हुए एलईडी बल्ब को बाहर निकाला।

जब डॉक्टरों ने बच्चे के फेफड़े ( Lungs ) से फंसी हुई चीज को बाहर निकाला तब जाकर उन्हें पता चला कि यह खिलौने में इस्तेमाल होने वाला एलईडी बल्ब ( Led Bulb ) था। जिसे खेलने के दौरान बच्चे ने गलती से निगल लिया था और उसे भी इस बात का अंदेशा नहीं था।

Show More
Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned