घर में कुत्ते के अलावा नहीं था और कोई, पैरालिसिस अटैक के चलते मालिक गिरा फर्श पर तो पालतू ने किया...

घर में कुत्ते के अलावा नहीं था और कोई, पैरालिसिस अटैक के चलते मालिक गिरा फर्श पर तो पालतू ने किया...

| Updated: 20 Feb 2019, 01:33:26 PM (IST) अजब गजब

  • कुत्ते ने बचाई मालिक की जान
  • जमीन पर गिर छटपटा रहे थे डॉक्टर
  • कुत्ते ने ऐसे दी वफादारी का सबूत

नई दिल्ली। कुत्ते वफादार होते हैं। मालिक के लिए ये कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। किसी भी परिस्थिति में ये अपने मालिक का साथ नहीं छोड़ते हैं। हाल ही में एक ऐसी घटना देखने को मिली जिससे यह एकबार फिर से साबित हो गया कि वाकई में कुत्ते इंसानों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं।

वाक्या पुणे का है। जहां के 65 साल के डॉक्टर रमेश संचेती अपने ब्राउनी नाम के कुत्ते के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी मुंबई, बेटा पुणे के पास बावधन और बेटी अमरीका में रहती है। ऐसे में ब्राउनी ही उनका एकमात्र सहारा है। 23 जनवरी के दिन करीब 12.30 बजे डॉक्टर साहब आंशिक पैरालिसिस अटैक और माइनर कार्डिक अरेस्ट के चलते फर्श पर गिर गए।

 

डॉक्टर रमेश संचेती

ब्राउनी ने ये सबकुछ होते देखा। उसका व्यवहार थोड़ा असामान्य सा हो गया। उसने पड़ोसी अमित शाह को अलर्ट करने की कोशिश की। दोपहर के वक्त शाह ब्राउनी को खाना खिलाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उसने खाने से इंकार कर दिया। वह बार-बार अपने मालिक डॉक्टर रमेश संचेती के बेडरूम की खिड़की की ओर जाने लगा।

ब्राउनी को ऐसा करते देख अमित को थोड़ा सा शक हुआ और उसने अंदर झांककर देखा। डॉक्टर को जमीन पर गिरे हुए देखकर शाह ने उन्हें तुंरत अस्पताल में एडमिट कराया और इस प्रकार उनकी जान बच गई।डॉक्टर और ब्राउनी का रिश्ता बहुत पुराना है। आज से 16 साल पहले उन्होंने ब्राउनी को अडाप्ट किया था। उनके इस पुराने साथी ने ही इस बार उनकी जान बचाई है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned