भारत के इस गांव में आसमान से बरसा सोना, लूटने के लिए मची भगदड़!

By: भूप सिंह

Published: 25 Oct 2020, 10:38 PM IST

अजब गजब

gold-1.jpg

1/2

सोने के भाव फिलहाल आसमान छू रहे हैं। अगर ऐसे में किसी के घर की छत पर या गांव के किसी इलाके में सोने की बारिश हो जाए तो भला सोचो क्या होगा। सुनने में तो ऐसी चीजें रोमांचक कम और ख्याली पुलाव ज्यादा लगती है। मगर भारत के एक गांव में हकीकत में ऐसा हुआ है। पीएम नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात के एक गांव में आसमान से सोने की बारिश हुई, फिर क्या था लूटने वालों की होड़ मच गई। गांव वाले रात के अंधेरे में टॉर्च लेकर निकल पड़े झाड़ियों में सोना ढूढ़ने। आइए जानते हैं पूरा मामला।

gold-1.jpg

आसमान से बरसा सोना
दरअसल, आसमान से सोना की गिरने की घटना गुजरात के सूरत की है। सूरत एयरपोर्ट के पास स्थित डुम्मस गांव में कुछ दिन पहले आसमान से सोने गिरने की घटना सामने आई। सोना भी छोटे और बड़े टुकड़ों में गिरा, जिसमें से बड़ा से बड़ा आकार एक छोटी ईंट के बराबर बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि हकीकत में हुआ ये कि जब गांव के लोगों को आसमान से सोना करने के बारे में पता चला तो सब सोने की तलाश में निकल पड़े। अब फ्री में मिल रहा है तो सोना भला किसे बुरा लगेगा।

कुछ लोगों के हाथ लगी सोने की ईंट
खबरें कि गांव के कुछ लोगों के हाथ सोने की ईंट लगी। गुजरात के जिस गांव में यह घटना हुई वहां के लोगों को सोने के टुकड़े सड़क के आस-पास झाड़ियों में मिले। ऐसा माना जा रहा है कि विदेश से सोने की तस्करी करने वाले किसी व्यक्ति ने जहाज में से ही ये सोना नीचे फेंक दिया होगा। पकड़े जाने के डर से ऐसा किया जाना संभव है। सोने की खबर मिलते ही गांव के अलावा और भी दूर-दूर से लोग वहां आ गए और सोने की तलाश शुरू कर दी।

अंधेरे में टॉर्च लेकर ढूढ़ने लगे सोना
कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जैसे ही गांव के बाहर से गुजरते हुए लोगों ने सोने जैसी धातु को पड़ा देखा तो यह खबर जंगल में आग की तरह वायरल हो गई। बिस्किट जैसे ये टुकड़े छोटे-बड़े साइज में हैं। खबर फैलने के बाद गांव और उसके आस—पास के कस्बों के लोग जमा हो गए। इसके बाद लोग अंधेरा होने की वजह से पूरी रात टॉर्च लेकर सोना ढूढ़ते रहे।

कईयों की चमकी किस्त को कई हुए निराश
बताया जा रहा है कि वहां कुछ लोगों को ऐसे टुकड़े मिले और कुछ को नहीं, मगर जिसे भी मिला उसने किसी दूसरे को कानों-कान खबर नहीं लगने दी। जिसे नहीं मिला वो लगातार ढूढ़ता रहा। कुछ लोग निराश होकर घर लौट आए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned