दुनिया की सबसे महंगी जेल, एक कैदी पर खर्च होते है इनते करोड़

आमतौर पर जेल का नाम आते ही मन में प्रकार के विचार आते हैं। वहां की सुरक्षा, कैदियों के खाने-पीने की व्यवस्था के सवाल आते है। लेकिन इस दुनिया में एक ऐसी जेल है जो काफी मशहूर है। इस जेल के बारे में कहा जाता है कि यहां के कैदियों के लिए इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है।

By: Shaitan Prajapat

Published: 24 Oct 2020, 05:39 PM IST

आमतौर पर जेल का नाम आते ही मन में प्रकार के विचार आते हैं। वहां की सुरक्षा, कैदियों के खाने-पीने की व्यवस्था के सवाल आते है। लेकिन इस दुनिया में एक ऐसी जेल है जो काफी मशहूर है। इस जेल के बारे में कहा जाता है कि यहां के कैदियों के लिए इन सब बातों का कोई मतलब नहीं है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस जेल के कैदियों पर सालाना करोड़ों रुपए खर्च होते है। इसलिए इसको दुनिया की सबसे महंगी जेल कहा जाता है। हम बात कर रहे है। क्यूबा की ग्वांतानमो बे जेल की।

यह भी पढ़े :— बर्थडे सेलिब्रेशन के दौरान युवक ने की ऐसी गलती, Video वायरल होने के बाद उठा ले गई पुलिस

 

guantanamo bay

कैदी पर 45 सैनिकों की नियुक्ति
दुनिया की सबसे महंगी जेल ग्वांतानमो खाड़ी के तट पर स्थित है। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के अनुसार, इस जेल में फिलहाल 40 कैदी हैं और हर कैदी पर सालाना करीब 93 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। खास बात यह है कि इस जेल में लगभग 1800 सैनिक तैनात हैं। यहां एक कैदी पर लगभग 45 सैनिकों की नियुक्ति है। जेल की सुरक्षा में तैनात सैनिकों पर हर साल करीब 3900 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। आप सोच रहे होंगे कि आखिरकार कैदियों की सुरक्षा के लिए इतने करोड़ों क्यों खर्च करते है। बताया जाता है कि यहां पर कई ऐसे अपराधियों को रखा गया है, जो बेहद ही खतरनाक हैं। खबरों के अनुसार, 9/11 हमले का मास्टरमाइंड खालिद शेख मोहम्मद भी यहां ही है।

 

यह भी पढ़े :— महिला लगवा रही थी नकली पलकें, गलती से हुआ ऐसा चली गई आंख की रोशनी

guantanamo bay

चर्च, सिनेमा, जिम और प्ले स्टेशन की भी व्यवस्था
ऐसा कहा जाता है कि इस जेल में 3 इमारतें, दो खुफिया मुख्यालय और तीन अस्पताल हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इसके अलावा यहां वकीलों के लिए भी अलग-अलग कंपाउंड बनाए गए हैं। जहां कैदी उनसे बात कर सकते हैं। यहां स्टाफ कैदियों के लिए चर्च और सिनेमा की भी व्यवस्था की गई है, जबकि अन्य कैदियों के लिए खाने के लिए अलावा जिम और प्ले स्टेशन भी बनाए गए हैं। इसके पहले ग्वांतानमो बे में अमेरिका का नेवी बेस था, मगर बाद में इसे डिटेंशन सेंटर (हिरासत केंद्र) बना दिया गया।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned