13 साल तक पॉटी करने नहीं गया ये शख्स और जब एक दिन हिम्मत जुटाई तो हुआ ये...

एक अध्ययन में यह बात सामने आई थी कि किसी भी व्यक्ति को हफ्ते में कम से कम 3-4 बार तो फ्रेश होने जाना ही चाहिए।

By: Priya Singh

Published: 25 Aug 2018, 02:10 PM IST

नई दिल्ली। बड़े बुज़ुर्ग हमेशा से कहते आए हैं कि, पेट से ही सारी बीमारियों की शुरुवात होती है। ऐसे में वह अपने से छोटों को यही सलाह देते हैं कि पेट सही तो सब सही। यह बात तो हर कोई जनता है कि इस शख्स को कॉन्स्टिपेशन यानी कब्ज की समस्या होती है तो उन्हें ज़िंदगी जीने में बड़ी मुश्किलें होती हैं। डॉक्टरों का भी कहना है कि, किसी भी व्यक्ति को सुबह के समय अपने शरीर से मल जिसे हम पॉटी कहते हैं उसका त्याग जरूर करना चाहिए। क्योंकि अगर कब्ज हुआ तो आपको पॉटी एक हफ्ते तक तो ठीक से नहीं आएगी। इससे कई गंभीर बीमारियां हमारे शरीर में घर बना लेती हैं। इससे पहले एक अध्ययन में यह बात सामने आई थी कि किसी भी व्यक्ति को हफ्ते में कम से कम 3-4 बार तो फ्रेश होने जाना ही चाहिए।

hirschsprung disease

आज हम आपको एक ऐसे शख्स की सच्ची कहानी बताने जा रहे हैं। जो खाना तो रोज खाता था लेकिन उसको पॉटी नहीं आती थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस शख्स को 13 साल से पॉटी नहीं हुई थी। जो भी शख्स की कहानी सुनता है वो हैरान रह जाता है। पेंसिल्वेनिया के रहने वाले इस शख्स को लोग बलून मैन के नाम से बुलाते थे। यह लड़का सर्कस के सामने गुब्बारे बेचने का काम किया करता था। जब उसकी उम्र महज 16 साल की थी तभी से उसे कब्ज़ की शिकायत रहने लगी फिर एक बार ऐसा हुआ कि उसे 8 हफ्ते तक वह फ्रेश नहीं हो पाया उसने बहुत कोशिश की लेकिन और आखिर में उसने दम तोड़ दिया। यह बात काफी रोचक रही कि वह गंभीर कब्ज के बावजूद 13 साल तक जिंदा रहा। डॉक्टरों ने इस बीमारी को Hirschsprung's Disease का नाम दिया था।


जानकारी के लिए बता दें की, इस बीमारी की वजह से उसकी आंतें ब्लॉक हो गई थी। 29 इन उम्र में इस शख्स ने इस बीमारी के सामने घुटने तक दिए और उसकी मौत हो गई। उसकी मौत के बाद डॉक्टरों ने जब उसका पोस्टमार्टम किया तो वे दांग रह गए। डॉक्टरों ने पाया की उसकी आंत सामान्य इंसानों से बेहद बड़ी थी। डॉक्टरों के रिकॉर्ड में उसकी आंत की लंबाई 25 फीट थी और उसकी परिधि 8 फीट पाई गई थी।

Show More
Priya Singh Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned