लड़कियों के लिए नहीं लड़कों के लिए बनाई गई थी हाई हील्स, जानें इसके पीछे का इतिहास

  • हाई हील्स को ज्यादातर लड़कियां पसंद करती है
  • हाई हील्स में लड़किया सुंदर दिखती है
  • लेकिन लड़कियों के लिए नहीं बनाई गई थी हाई हील्स

Piyush Jayjan

November, 1905:30 PM

नई दिल्ली। इस दुनिया में कहीं चीजें महिला और पुरूष के हिसाब से खासतौर पर तैयार की गई। मगर इसके बावजूद वो चीज उसके लिए मुुफीद नहीं बैठी जिसके लिए उसे खासतौर पर इजाद किया गया था। दरअसल लड़कियों जो हाई हील्स पहने हुए दिखती है वो उनके लिए नहीं बनाई गई थी।

हाई हील्स वाली जूते और चप्प्ल पहनने का शौक भला किस लड़की को नहीं होगा। ये हाई हील्स अच्छे खासे दामों में बेची भी जाती है। यहाँ तक कि इन्हें खरीदने के लिए खास सेल का आयोजन भी किया जाता है लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते है कि हाई हील्स लड़कों के लिए बनाई गईं थी।

हाई हील्स इसलिए बनाई गई ताकि मर्द ज्यादा मर्दाना दिख सकें। प्राचीन काल में लोगों का मानना था कि लड़कों के हाई हील्स पहनने से वो ज्यादा मर्दाने दिख सकते हैं और इसलिए पुरूषों ने हाई हील्स पहनना शुरू किया। इतिहास के अनुसार हाई हील्स का सबसे पहला उपयोग 1000 ईसा के आसपास का है।

जो पर्सियन लोगों का समय माना (ईरान) जाता था। एक कहावत के मुताबिक उनका मानना था कि हाई हील्स पहनने से बहुत अच्छे तरीके से धनुष चलाया जा सकता है। इसके साथ ही इनमें घुड़सवारी करने में भी काफी सहुलियत रहती थी।

लेकिन धीरे-धीरे वक़्त के साथ बदलाव होते चले गए और इसी का नतीजा रहा कि हाई हील्स को लड़कियों ने पहनना शुरू कर दिया। लड़कियों ने हाई हील्स को बड़ी तेजी से अपनाया इसकी एक वजह ये थी कि मर्दों की अपेक्षा में लड़कियां हाई हील्स में ज्यादा आरामदायक महसूस कर रही थी।

अगर मौजूदा दौर में पुरूषों के फूट वियर स्टाइल पर नज़र ड़ाले तो अभी भी कुछ ऐसे जूते दिख जाएंगे जो काफी हद तक लड़कियों की हाई हील्स से मैच होते हैं। इसलिए कह सकते हैं कि पुरूषों ने हाई हील्स को नहीं अपनाया और कुछ नया इजाद किया जो हाई हील्स से भी कम्फ़र्टेबल और अच्छा था।

खैर अगर आप इस बात का जिक्र कभी लड़कियों से करे तो शायद ही वो इस बात पर यकीन करे। कई लड़कियों का मानना है कि हाई हील्स पहनने से पर्सनालिटी में भी खुलापन देखने को मिलता है। अक्सर लड़कों को भी हाई हील्स पहनने वाली लड़कियां काफी भाती है।

Piyush Jayjan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned