15,000 किलो शुद्ध सोने से बना है यह मंदिर, 100 एकड़ जमीन पर फैले इस मंदिर को बनाने में लगा इतने सालों का वक्त

15,000 किलो शुद्ध सोने से बना है यह मंदिर, 100 एकड़ जमीन पर फैले इस मंदिर को बनाने में लगा इतने सालों का वक्त

Arijita Sen | Publish: Jan, 11 2019 04:33:15 PM (IST) अजब गजब

संसार में किसी भी मंदिर का बनाने में इतना अधिक सोना नहीं लगा जितना की इस मंदिर को बनाने में लगा।

नई दिल्ली। देश में मंदिरों की कोई कमी नहीं है। भव्य मंदिरों को देखने के लिए दूर-दराज से लोग आते हैं, लेकिन चेन्नई से लगभग 145 किलोमीटर की दूरी पर बसे वैल्लोर शहर में बने श्री लक्ष्मी नारायणी मंदिर की बात ही कुछ और है। वैल्लोर सात किलोमीटर दूर थिरूमलाई कोडी में इस मंदिर को बनाया गया है। दक्षिण भारत के इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे सोने से बनाया गया है।

 

Laxmi Narayani  <a href=golden temple in Vellore" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/01/11/78_3963350-m.jpg">

लगभग 100 एकड़ जमीन पर करीबन 15,000 किलो शुद्ध सोने से इस मंदिर को बनाया गया है जिसमें 7 साल का समय लगा है। संसार में किसी भी मंदिर का बनाने में इतना अधिक सोना नहीं लगा जितना की इस मंदिर को बनाने में लगा। इसे बनाने में 300 करोड़ का खर्च आया है।

 

Laxmi Narayani Golden Temple in Vellore

दिन ढ़लते ही जब मंदिर में लाइट जलती है तो सोने की चमक और भी बढ़ जाती है। मंदिर परिसर में 27 फीट ऊंची एक दीपमाला भी है। इसे शाम के समय जला दिया जाता है। यहां का नजारा बेहद ही अद्भूत होता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Laxmi Narayani Golden Temple in Vellore

जगमगाते हुए इस मंदिर में लोग दक्षिण दिशा से प्रवेश करते हैं और क्लाक वाईज घुमते हुए पूर्व दिशा की ओर जाते हैं।

Laxmi Narayani Golden Temple in Vellore

अंदर भगवान श्री लक्ष्मी नारायण के दर्शन के बाद फिर पूर्व में आकर दक्षिण से ही बाहर की ओर प्रस्थान करते हैं।

Laxmi Narayani Golden Temple in Vellore

मंदिर परिसर में उत्तर दिशा की ओर में एक छोटा सा सरोवर भी है।

Laxmi Narayani Golden Temple in Vellore

सात साल की कड़ी मेहनत और लगन के बाद 24 अगस्त 2007 को यह मंदिर दर्शन के लिए खोला दिया गया था।

ये भी पढ़ें: कलियुग में केवल किन्नर पहुंचा सकते हैं इंसान को फर्श से अर्श तक, शिव और शक्ति के युग्मक का फल है ये तीसरी योनि

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned