खूनी परंपरा! पत्नी के लिए मौत की जंग, कई बार चली जाती है जान

कई परंपराएं इतनी अजीबोगरीब होती हैं जिसके बारे में जानकर लोग हैरान हो जाते हैं।
डोंगा लड़ाई बहुत घातक होती है। इसमें कई लोग गंभीर रूप से घायल हो जाते हैं।

By: Shaitan Prajapat

Published: 13 Jan 2021, 10:17 AM IST

नई दिल्ली। इस दुनिया कई ऐसी जनजातियां रही है। जिनकी मान्यताएं और परंपराएं सभी भी अलग अलग है। इन अनोखी परंपरा के कारण ये लोग दुनियाभर में मशहूर है। कई परंपराएं इतनी अजीबोगरीब होती हैं जिसके बारे में जानकर हर कोई कोई दंग है। एक ऐसी पापुआ न्यू गिनी की जनजाति की अनोखी परंपरा है। इस परंपरा के अनुसार, जनजाति में किसी भी उम्र का पुरुष अपने कबीले की किसी भी उम्र की किसी भी महिला के साथ यौन संबंध बना सकता है। ऐसा करने से कोई भी किसी को रोक नहीं सकता। इस अनोखी परंपरा पर यूनीसेफ ने गहरी चिंता भी जाहिर जताई है।


डंड़ों से करते है लड़ाई
इस प्रकार इथियोपिया (Ethiopia) की सूरी (Suri) जनजाति के पुरुष डंडों से लड़ाई करते है। बताया जाता है कि वे ऐसा करके अपने लिए पत्नी तलाशते हैं। खबरों के अनुसार, इस उत्सव को डोंगा (Donga) युद्ध कहा जाता है। यह युद्ध एक उत्सव के रूप में होता है जिसमें इस जनजाति के पुरुष एक दूसरे को डंडों से मारते हैं। जो पुरुष आखरी तक अपने पैरों पर खड़ा रहता है वो जनजाति की एक महिला को अपनी पत्नी के रूप में जीत लेता है।

यह भी पढ़े :— इस रेगिस्तान में दफन है कई रहस्य: एलियन कनेक्शन, विशालकाय नीली आंख, सफेद मोटी बर्फ की चादर

 

कई बार हो जाती है मौत
बताया जाता है कि डोंगा लड़ाई बहुत घातक होती है। इस लड़ाई में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो जाते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इसमें कुछ लोगों की मौत भी हो जाती है। पुरुषों पर डंडे से लगी चोट को गर्व के रूप में देखा जाता है। परंपरा के अनुसार जो पुरुष ज्यादा मार खाने के बाद अपने पैरों पर खड़ा होता है उसको असली मर्द मानते है।

सरकार ने लगाया था प्रतिबंध
इल लड़ाई में पुरुष बेहद कम पहनते है। इसके साथ ही हेल्मेट के आकार के घर में बने कवच से सिर को डंडों की मार से बचाया जाता है। इस लड़ाई के माध्यम से महिलाओं को सिर्फ प्रभावित ही नहीं किया जाता बल्कि कबीले के युवाओं को कबीले की रक्षा करना भी सिखाया जाता है। हालांकि इथियोपिया की सरकार ने साल 1994 में डोंगा लड़ाई पर रोक भी लगा दी थी। लेकिन आज भी यहां के लोग उस अनोखे उत्सव का आयोजन करते है।

Show More
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned