छोटे घाव से शुरू हुई बीमारी ने ले लिया भयानक रूप, शर्मिंदगी में आखिर क्यों जी रहा था ये शख्स?

  • गैंग्रीन से ग्रसित शख्स का चलना, उठना, बैठना सब हुआ दूभर
  • क्या है गैंग्रीन बीमारी? क्या हैं इसके कारण?

Priya Singh

October, 1801:06 PM

अजब गजब

नई दिल्ली। आपने कभी गैंग्रीन नाम की बीमारी के बारे में सुना है? ये एक ऐसी बीमारी है जो व्यक्ति का प्राइवेट पार्ट फुटबॉल से भी बड़ा हो जाता है। इस बीमारी में बेतहाशा तकलीफ के साथ पीड़ित शख्स को शर्मिंदगी भी महसूस होती है। उसका चलना, उठना, बैठना सब दूभर हो जाता है। इस बीमारी में या तो सूजन आ जाती है या तो वो अंग सड़ने लगता है। ऐसे में पीड़ित शख्स का पूरा जीवन बेहद मुश्किलों से कटता है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित शख्स चलने के लिए वॉकर का इस्तेमाल करता है लेकिन फिर भी उसे चलने में कठिनाइयां होती हैं।

scrotum_swells_bigger.jpg

क्या है गैंग्रीन?

जब शरीर के किसी भाग में कोई भी चोट लग जाती है, और वह सही तरीके से ठीक नहीं होती तो कुछ दिन बाद वह सड़ने लगती है। गैंग्रीन का मतलब है टिशू का सड़ जाना। समय के साथ ये इतना घातक हो जाता है कि ये आपके हर सेल्स को प्रभावित कर सकता है। गैंग्रीन से ग्रसित होने की कुछ वजहें।

1- हड्डियों का टूट जाना
2- कोई चोट या घाव
3- आग या किसी अन्य वस्तुओं से जल जाने पर होने वाला घाव
4- ज्यादा सर्दी लग जाना
5- पाला मारने के चलते
6- करंट का झटका

gangrene.jpeg

43 वर्षीय शख्स की दैनिक जरूरतों का ध्यान उसकी मां रखती थी। इस शख्स की मुसीबतें जब बढ़ने लगीं तो वह डॉक्टर के पास पहुंचा। जांच के बाद डॉक्टर ऑपरेशन के नतीजे पर पहुंचे। जांच में पता चला कि इस शख्स के प्राइवेट पार्ट में दो जगह घाव थे। इन घावों की वजह से काफी मवाद बन गया था जिसकी वजह से उसकी ये हालत हो गई थी। डॉक्टरों ने सर्जरी कर इस शख्स के घाव का इलाज किया और मवाद निकाला। ऑपरेशन बहुत मुश्किल था लेकिन काफी मेहनत के बाद शख्स की सर्जरी सफल रही। फ़िलहाल शख्स अस्पताल में आराम कर रहा है। बता दें कि पीड़ित शख्स की सर्जरी को अब दस दिन हो चुके हैं और वह सामान्य ज़िंदगी की तरफ बढ़ रहा है।

Priya Singh
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned