scriptगरीबों के राशन में हेराफेरी, अनाज के बदले हितग्राहियों को रुपए दिए | Manipulation in the ration of the poor, money was given to the beneficiaries in lieu of grains. Stock of wheat, kerosene, moong, rice and sugar was found less. | Patrika News
अजब गजब

गरीबों के राशन में हेराफेरी, अनाज के बदले हितग्राहियों को रुपए दिए

गेहूू, केरोसिन, मूंग, चावल और शकर का स्टॉक कम मिला राशन दुकान से अनाज की कालाबाजारी की जा रही हैं। गरीब के मुंह का निवाला बनने से पहले उन्हें मिलने वाला राशन बाजार में पहुंच रहा है। उचित मूल्य दुकान टिगरिया की जांच में इस बात खुलासा हुआ हैं। दुकान में गेंहू, करोसिन, मुंग, चावल […]

खंडवाJun 16, 2024 / 01:13 pm

Deepak sapkal

गेहूू, केरोसिन, मूंग, चावल और शकर का स्टॉक कम मिला

राशन दुकान से अनाज की कालाबाजारी की जा रही हैं। गरीब के मुंह का निवाला बनने से पहले उन्हें मिलने वाला राशन बाजार में पहुंच रहा है। उचित मूल्य दुकान टिगरिया की जांच में इस बात खुलासा हुआ हैं। दुकान में गेंहू, करोसिन, मुंग, चावल और शक्कर का स्टॉक कम मिला है। इसके साथ ही पीओएस मशीन में राशन वितरण की एंट्री कर हितग्राहियों को राशन के बदले रुपए दे दिए।
रोशनी पुलिस चौकी में बहुउद्देशीय सेवा सहकारी समिति धावड़ी द्वारा संचालित उचित मूल्य दुकान टिगरिया दुकान कोड 1307006 की जांच की गई थी। रोशनी चौकी प्रभारी एसआइ राजेंद्र सोलंकी ने बताया कि लिखित शिकायत के आधार पर दुकान संचालक शिवराम सिलाले एवं गोविंद मांडले के विरुद्ध केस दर्ज किया गया हैं। आरोपियों पर आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 एवं अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया।
26 मई को खाद्य विभाग ने की थी जांच
26 मई 2024 को कनष्ठि आपूर्ति अधिकारी दानिश खान व नायब तहसीलदार बालवा सुरेश बामनिया द्वारा बहुउद्धेषीय सेवा सहकारी समिति धावडी द्वारा संचालित उचित मूल्य दुकान टिगरिया की जांच की गई थी। जांच प्रतिवेदन जिला आपूर्ति अधिकारी को प्रस्तुत किया गया था। जांच में दुकान के स्टॉक में हेराफेरी उजागर हुई थी। दुकान संचालक शिवराम सिलाले व गोविंद मांडले पर कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन रोशनी चौकी में प्रस्तुत किया था।
स्टाक में यहां की हेराफेरी
स्टाक जांच ने पर गेहूं 12.78 क्विंटल कम, चावल 19.49 क्विंटल कम, शक्कर 3 किलो कम, केरोसीन 390 लीटर कम, मूंग 50 किलो कम और नमक 769 किलो अधिक पाया गया था। इसके बाद हितग्राहियों के बायोमेट्रिक सत्यापन किया गया। इसमें पीओएस मशीन में राशन वितरण की एंट्री कर हितग्राहियों को राशन के बदले पैसे दिए गए पाया गया।
हितग्राहियों ने कहा अनाज के बदले रुपए दिए
टिगरिया निवासी समोती बाई पति रामप्रसाद, श्रीराम पिता सोमा कलमे, जगन्नाथ पिता नोसिनराम निवासी हसनपुरा, अजय पिता मनोहारी निवासी हसनपुरा के बयान दर्ज किए गए। जांच अधिकारियों को दिए कथन में हितग्राहियों ने कहा कि गोविंद मांडले द्वारा माह मई 2024 में उन्हें राशन के बदले में रुपए दिए गए। इस तरह से स्वेच्छाचारिता से नियम विरुद्ध हितग्राहियों के बायोमेट्रिक सत्यापन पीओएस मशीन में राशन वितरण की एंट्री कर हितग्राहियों को राशन के बदले पैसे दिए गए।

Hindi News/ Ajab Gajab / गरीबों के राशन में हेराफेरी, अनाज के बदले हितग्राहियों को रुपए दिए

ट्रेंडिंग वीडियो