महिला ने दिया पांचवें महीने में बच्चे को जन्म, यहां देखें तस्वीरें

Amanpreet Kaur

Publish: Sep, 17 2017 04:33:08 (IST)

Weied News
महिला ने दिया पांचवें महीने में बच्चे को जन्म, यहां देखें तस्वीरें

पैंसिलवेनिया में रहने वाली एक महिला ने 5 माह के प्रीमैच्योर बेबी को जन्म दिया।

नई दिल्ली। भगवान ने एक औरत को नई जान को इस दुनिया में लाने की ताकत दी है, हालांकि औरत के गर्भ में बच्चे की रक्षा भी भगवान खुद करते हैं। गर्भ में नौ महीने तक पूरी तरह विकसित होने के बाद बच्चा जन्म लेता है। उससे पहले पैदा हुए बच्चे प्रीमैच्योर कहलाती है। अमरीका में हर साल करीब 10 लाख गर्भवती महिलाएं प्री टर्म लेबर या मिसकैरेज की शिकार होती हैं। समय से पहले पैदा हुए बच्चों में से कुछ की जिंदगी बच जाती है, वहीं ज्यादा कमजोर बच्चे दम तोड़ देते हैं। प्रीमैच्योर बेबी ज्यादातर सातवें महीने में पैदा होते हैं, हालांकि ताजा मामला काफी अनोखा है।

पैंसिलवेनिया में रहने वाली एक महिला ने 5 माह के प्रीमैच्योर बेबी को जन्म दिया। हाल ही उसने अपने इस बच्चे के बारे में ब्लॉग लिखा और कुछ तस्वीरें शेयर कीं जिसने लोगों को रुला दिया। 30 साल की एलेक्स फ्रेट्ज ने मात्र १९ सप्ताह में अपने तीसरे बच्चे को जन्म दिया था। उन्होंने अपने बेटे का नाम वॉल्टर जॉशुआ फ्रेट्ज रखा। हालांकि जन्म के कुछ ही समय बाद वॉल्टर की मौत हो गई। एलेक्स ने अपने ब्लॉग पर इस बच्चे की तस्वीरें शेयर की थीं। जिसके बाद लाखों लोगों ने इसे शेयर किया।

एलेक्स को मात्र १९ सप्ताह में ही लेबर पेन शुरू हो गया। जब उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया, तो डॉक्टर्स ने सर्जरी कर वॉल्टर को बाहर निकाला। समय से काफी पहले पैदा हुआ वॉल्टर हथेलियों से भी छोटा था। साथ ही उसकी स्किन इतनी ट्रांसपेरेंट थी कि अंदर धडक़ता दिल साफ दिखाई दे रहा था।

जैसे ही वॉल्टर दुनिया में आया, डॉक्टर्स ने उसे एलेक्स की गोद में डाल दिया। डॉक्टर्स भी चाहते थे कि परिवार इस बच्चे के साथ कुछ पल बिता ले। एलेक्स ने ब्लॉग में बताया कि वॉल्टर बिल्कुल नॉर्मल दिख रहा था। उसके हाथ पैर पूरी तरह बन चुके थे। एलेक्स ने उसे छाती से लगाया। बच्चे के पास ज्यादा समय नहीं था, इस लिए उसे पिता ने भी उसे जल्द से गोद में उठा लिया और उसकी बहन ने भी उसके साथ कुछ पल बिनाए। यह बच्चा अधिक समय तक जीवित नहीं रह सका और उसने दम तोड़ दिया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned