12 राशियों के प्रतीक इस मंदिर में मकर संक्राति के दिन पड़ती है सूर्य देव की प्रतिमा पर सूर्य की पहली किरण

600 साल पुराने मंदिर में सात दिन, 12 महीने, 12 राशियों और नवग्रह के आधार पर मंदिर की रचना की गई है इस मंदिर की वजह से खरगोन को नवग्रह नगरी भी कहा जाता है

By: Pratibha Tripathi

Published: 14 Jan 2021, 05:24 PM IST

नई दिल्ली। हमारे देश में कई ऐसे मंदिर है जो अपने रहस्यो से ज्यादा पहचाने जाते है। जहां पर कुछ ना कुछ ऐसी घटनाए होती रहती है जिसके चलते वह लोगों की आस्था का केन्द्र बन जाता है जिस प्रकार से मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में स्थित 600 साल पुराना अति प्राचीन नवग्रह मंदिर। जिसका मकर संक्रांति पर काफी महत्व है।क्योंकि मकर संक्रांति के दिन यहां सूर्य देव की प्रतिमा पर सूर्य की पहली किरण पड़ती है। बता दे कि सी तरह का चमत्कार ओडिशा के कोणार्क सूर्य मंदिर के में भी देखने को मिलता है। जहां सूर्य की किरणें सबसे पहली आती हैं। इस मंदिर में चारों तरफ नवग्रहों की प्राचीन मूर्तियां स्थापित हैं. देश भर से श्रद्धालु मकर संक्रांति पर यहां भगवान सूर्य के दर्शन के लिए आते हैं।

गर्भ गृह में सूर्य की मूर्ति विराजित

मकर संक्रांति के दिन इस मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु सूर्य देव के दर्शने करने के लिए आते है।संक्रांति के दिन खरगोन नवग्रह मंदिर में सूर्य की पहली किरण मंदिर के गुंबद से होते हुए भगवान सूर्य की मूर्ति पर पड़ती है। बता दें कि मकर संक्रांति सूर्य के आने का प्रतीक है। और नवग्रह मंदिर सूर्य प्रधान होता है। इस मंदिर के गर्भ गृह में सूर्य की मूर्ति विराजित है। इसके अलावा मूर्ति के आसपास अन्य ग्रहों की रचना भी की गई हैं। यहां मान्यता है कि मकर संक्रांति पर सूर्य की पूजा की जाती है

इस मंदिर की खासियत

खरगोन नवग्रह मंदिर में प्रवेश करते समय 7 सीढ़ियां हैं, जो सप्ताह के सात दिनों का प्रतीक हैं. इसके बाद ब्रह्मा विष्णु के स्वरूप, मां सरस्वती, श्री राम और पंचमुखी महादेव के दर्शन होते हैं। मंदिर के गर्भगृह में जाने के लिए जहां 12 सीढ़ियां उतरना होती हैं, जो साल के 12 महीने का प्रतीक हैं. इसके बाद दूसरे मार्ग पर फिर 12 सीढ़ियों से ऊपर चढ़ते हैं जो 12 राशियों का प्रतीक हैं।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned