ये महिला आवारा कुत्तों को खिलाती थी खाना, लेकिन फिर हुआ कुछ ऐसा कि अब चुकानी पड़ेगी ये बड़ी कीमत

  • महिला खिलाती थी आवारा कुत्तों को खाना
  • अब महिला को पड़ गया महंगा
  • महिला ने उठाया ये कदम

By: Navyavesh Navrahi

Published: 16 Apr 2019, 02:16 PM IST

नई दिल्ली: घर में खाने की कुछ चीज बच जाती है तो अमूमन उन्हें जानवरों को खिला दिया जाता है। वहीं कुछ लोगों को जानवरों को खाना खिलाने का शौक भी होता है। इसीलिए उन्हें जब भी कहीं आवारा जानवर दिखते हैं तो उन्हें वो कुछ न कुछ खिला देते हैं। ऐसा ही शौक मुंबई ( mumbai ) की रहने वाली एक महिला को भी है, लेकिन उन्हें ये शौक काफी भारी पड़ गया।

मैरी कॉम ने गाया लता जी का ये गाना हर कोई रह गया हैरान, वीडियो हो गया वायरल

कांदीवली ईस्ट कि निसर्ग हैवेन को ऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाली नेहा दतवानी ( Neha Datwani ) नाम की महिला को आवारा कुत्तों ( stray dogs ) को खिलाने और पालने का शौक है। इसके लिए सोसाइटी ( society ) ने उन पर 2500 रुपये का जुर्माना लगाया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल मई में ये फैसला लिया गया था, ताकि सोसाइटी में आवारा कुत्तों से होने वाली बीमारी और खतरों पर रोक लगाई जा सके। नेहा के मुताबिक, कुत्तों को खिलाने को लेकर सोसाइटी की तरफ से उन पर 3.6 लाख रुपये का बकाया है। उन पर इसके अलावा जुर्माने पर 21 फीसदी का ब्याज ( interest ) भी लगाया गया है।

2 साल की मासूम के साथ इस कलयुगी पिता ने किया ये घिनौना काम, मामला जान हैरान रह जाएंगे आप

नेहा को ये जुर्माना फरवरी महीने के मेंटेनेंस बिल के साथ जोड़कर मिला था। नेहा ने मेंटेनेंस बिल तो भर दिया था, लेकिन उन्होंने जुर्माने की राशि भरने से साफ इंकार कर दिया था। नेहा का कहना है कि वो कानूनी रुप से सही हैं, जिसके चलते वो ये जुर्माना नहीं भरेंगी। वहीं इस मामले पर सोसाइटी के चेरमैन मितेश वोरा का कहना है कि यहां 194 फ्लैट्स और लगभग 228 घर हैं। कुत्तों को लेकर कई लोगों ने उनसे शिकायत की थी कि कुत्ते सोसाइटी परिसर में गंदगी फैलाते हैं और लोगों पर हमला भी करते हैं। इसी के चलते ये निमय बनाया गया था। इसी सोसाइटी में रहने वाले कतर शाह पर भी सोसाइटी की तरफ से जुर्माना लगाया गया था।

Show More
Navyavesh Navrahi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned