चाय बेचकर इस जोड़े ने कर ली 23 देशों की सैर, लोन लिए बिना इस तरह इकठ्ठा कर लेते हैं पैसे

चाय बेचकर इस जोड़े ने कर ली 23 देशों की सैर, लोन लिए बिना इस तरह इकठ्ठा कर लेते हैं पैसे

Arijita Sen | Publish: Mar, 17 2019 01:03:17 PM (IST) अजब गजब

  • एक टी स्टाल के सहारे कर रहे हैं दुनिया की सैर
  • आज तक नहीं ली किसी की मदद
  • इन पर फिल्म भी बन चुकी है

नई दिल्ली। कहते हैं जहां चाह है वहां राह है। अगर इंसान अपने किसी सपने को पूरा करने की चाह रखता है तो उसे दुनिया की कोई भी ताकत नहीं रोक सकती है। ऐसे में आपको बस ईमानदारी से अपना काम करना है और राह अपने आप ही बन जाएगी।

 

Sree balaji coffee house

आज हम आपको एक ऐसे जोड़े के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सपना है एक-दूसरे के साथ दुनिया की सैर करना। अगर पैसा हो तो ऐसा करना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन इस दम्पत्ति ने चाय बेचकर अपने इस ख्वाब को पूरा किया है।

 

Vijayan with Mohana

हम यहां विजयन और मोहाना की बात कर रहे हैं। विजयन 68 साल के हैं और उनकी धर्मपत्नी मोहाना 67 साल की हैं। केरल के कोच्चि में इनका एक छोटा सा टी स्टॉल है और इसी के सहारे ये अपने सपने को सच कर रहे हैं। अब तक केरल का यह बुजुर्ग जोड़ा चाय बेचकर 23 देशों की सैर कर चुका है। इनकी चाय की दुकान का नाम श्री बालाजी कॉफी हाउस है।

 

Vijayan with Mohana

यहां सबसे बड़ी बात यह है कि इन्होंने कभी भी दुनिया की सैर के लिए लोन नहीं लिया है। विजयन और मोहाना दोनों मिलकर दुकान में रात-दिन मेहनत करते रहते हैं। उनकी बस एक ही कोशिश रहती है और वह यह कि हर शाम अपनी निजी व प्राथमिक जरूरतों को पूरा करने के बाद उनके पास 300 रुपए अलग से बच जाए। इस तरह से हर रोज 300 रुपए की सेविंग ये कर लेते हैं और इसी तरह से वे सैर करते हैं।

 

World tour

विजयन और मोहाना पिछले 45 साल से एक-दूजे का साथ निभा रहे हैं। दोनों को ही घूमने का बहुत शौक है। इस ख्वाब को पूरा करने के लिए जब पैसे कम पड़ने लगे तो साल 1963 में 56 साल की उम्र में उन्होंने ठेला लगाकर चाय बेचनी शुरू कर दी और यही से उनके इस सफर की शुरूआत हुई।

 

That short film

सिंगापुर, स्विट्जरलैंड और न्यूयॉर्क इन्हें बेहद पसंद हैं। अब ये दोनों स्वीडन, डेनमार्क, नीदरलैंड्स, ग्रीनलैंड और नॉर्वे जाने का प्लान बना रहे हैं। इन पर ‘इनविजिबल विंग्स’ नाम की एक फिल्म भी बन चुकी है जिसके निर्माता हरि मोहनन हैं। साल 2018 के फिल्मफेयर अवॉर्ड्स में बेस्ट नॉन-फिक्शन फिल्म के लिए इस मूवी का चुनाव किया गया था।

 

Globe

विजयन और मोहाना ने अपनी दुकान पर दुनिया का एक नक्शा लगा रखा है। जिन जगहों की सैर वे कर चुके हैं उसे मार्क कर दिया गया है हालांकि अभी सफर बाकी है और इसके लिए इरादा मजबूत है।

ये भी पढ़ें: राधा-कृष्ण के चलते आज भी ये दो गांव आपस में नहीं जोड़ते हैं वैवाहिक संबंध, पांच हजार साल पुरानी है यह परंपरा

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned