इस गांव में एक मटके से ज्यादा पानी लेने पर लगता है जुर्माना, वजह बेहद हैरान करने वाली

  • इसलिए लगता है इस गांव में जुर्माना
  • नोटिस लगाया गया है टंकी के पास
  • गांव वाले रखते हैं इन बातों का खास ध्यान

By: Prakash Chand Joshi

Published: 15 May 2019, 02:30 PM IST

नई दिल्ली: हम अपने जीवन में नजाने कितना पानी जाने अनजाने बर्बाद कर देते हैं, लेकिन पानी की कीमत उनसे पूछिए जिन्हें नहाना तो बहुत दूर की बात पीने के लिए भी पानी नहीं मिल पाता। ऐसे ही कुछ हालात है बस्तर ( Bastar ) में जहां एक मटका पानी से ज्यादा अगर आप लेते हैं तो आप पर जुर्माना लगाया जाएगा। चौंकिए मत जनाब क्योंकि ये बिल्कुल सच है। आइए आपको इसके पीछे की वजह बताते हैं।

Bastar

छत्तीसगढ़ ( Chhattisgarh ) के बस्तर में गर्मी के दिनों में पानी की समस्या काफी बढ़ जाती है। बस्तर जिले के दरभा ब्लॉक में दर्जनभर गांव ऐसे हैं, जहां पर गांव वाले पानी के लिए तरसते हैं। यहां हालात ऐसे बन गए हैं कि एक मटके पानी से ज्यादा अगर कोई लेता है तो उस पर जुर्माना लगता है। पानी के दुरुपयोग को रोकने के लिए पंचायत ने इस तरह का फैसला लिया। यहां जल स्त्रोतों का अभाव होने के साथ-साथ भू-जल स्तर भी काफी नीचे है। बस्तर जिले के ब्लॉक मुख्यालय से लगभग 30 किलोमीटर दूर लेण्ड्री गांव में पंचायत ने पानी के दुरुपयोग को रोकने के लिए एक अलग तरह का फरमान सुनाया।

Bastar

फरमान के अनुसार, यहां अगर कोई जरूरत से ज्यादा पानी लेता है या फिर पानी ( water ) को व्यर्थ में बहाता है तो पंचायत प्रति बाल्टी के हिसाब से 50 रुपये जुर्माना लगाएगी। ऐसे में जुर्माने से बचने के लिए लोग यहां से उतना ही पानी लेते हैं जितनी उनको जरूरत है। लेण्ड्रा गांव में जनपद पंचायत द्वारा एक टंकी लगाई गई है। इस टंकी पर एक नोटिस भी लगाया गया है। इसमें लिखा है 'एक गुण्डी लाओ और पानी ले जाओ, 10 गुण्डी लाओगे तो 50 रुपये प्रति गुण्डी के हिसाब से जुर्माना लगेगा।' बस्तर में एक दशक पहले लगभग 19 हजार हेक्टोमीटर भूजल उपलब्ध था, लेकिन अब ये घटकर 17 हजार होक्टोमीटर के आसपास रह गया है।

Show More
Prakash Chand Joshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned