भगवान कृष्ण के चरित्र पर महिला ने उठाया सवाल, कोर्ट में पुजारी ने कही ऐसी बात कि हो गई सबकी बोलती बंद

भगवान कृष्ण के चरित्र पर महिला ने उठाया सवाल, कोर्ट में पुजारी ने कही ऐसी बात कि हो गई सबकी बोलती बंद

Arijita Sen | Publish: Apr, 08 2019 01:10:54 PM (IST) | Updated: Apr, 08 2019 01:10:55 PM (IST) अजब गजब

  • महिला ने भरी अदालत में कह दी ऐसी बात
  • कृष्ण भक्त ने पलटकर दिया ये जवाब
  • कोर्ट ने केस को कर दिया खारिज

नई दिल्ली। इस्कॉन (International Society for Krishna Consciousness) के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे। यह भगवान कृष्ण के भक्तों की एक संस्था है जिसका प्रभाव पाश्चात्य देशों में भी देखा जा सकता है। भगवान कृष्ण के भक्तों की संख्या इस धरती पर अनगिनत है। ऐसे में आज हम उस महिला के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जिसने कृष्ण जी के चरित्र पर उंगली उठाकर उन पर केस दर्ज कराया था।

 

ISKON

यह उन दिनों की बात है जब इस्कॉन का विस्तार यूरोपीय देशों में हो रहा था। यहां हजारों की तादात में लोग इस संस्था से जुड़ रहे थे। साल 2011 में यूरोप में स्थित देश पोलैंड की राजधानी Warsaw में एक नन से यह सबकुछ सहा नहीं गया और उसने इस्कॉन पर एक केस फाइल कर दिया।

 

Krishna adorer

मामला कोर्ट में पहुंचा। नन ने अदालत से मांग की कि पोलैंड में इस्कॉन को बैन कर दिया जाए। वह इस्कॉन के इस प्रभाव से खुश नहीं थी। उसने कोर्ट में कहा कि इस्कॉन के अनुयायी उस कृष्ण का गुणगान करते हैं जिनका चरित्र ठीक नहीं था। नन का कहना था कि श्रीकृष्ण ने 16,000 औरतों से शादी की थी। गोपियों संग उनकी रासलीला भी मशहूर हैं।

 

Lord Krishna devotee

नन का विरोध करते हुए इस्कॉन के एक शख्स ने जज से विनती की कि वह नन से उस शपथ को दोहराने को कहें जिसे वह नन बनते समय ली थी। जज ने नन से उस शपथ को तेज आवाज में बोलने को कहा हालांकि नन चुप रही।

 

Krishna with gopis

इस पर इस्कॉन के इस शख्स ने जज से कहा कि वह उसे उस शपथ को पढ़कर सुनाने की अनुमति प्रदान करें। जज ने ऐसा करने को कहा तो उस व्यक्ति ने कोर्ट में सबके सामने शपथ को जोर-जोर से पढ़के सुनाया। उस शपथ का मतलब साफ था कि नन बनने वाली हर स्त्री जीसस क्राइस्ट की विवाहिता होती हैं।

 

Court

उस प्रतिवादी शख्स ने कहा कि माई लार्ड! श्रीकृष्ण के बारे में ऐसा कहा जाता है कि उनकी 16,000 पत्नियां थीं। इस तरह से देखा जाए तो दुनिया भर में 10 लाख से अधिक Nun हैं जो कि Jesus Christ की विवाहिता हैं। ऐसे में अब आप निर्णय लीजिए कि भगवान कृष्ण और जीसस क्राइस्ट में किसका चरित्र ठीक नहीं है? इस बात को सुनते ही जज ने ISKCON के खिलाफ इस केस को फौरन खारिज कर दिया।

ये भी पढ़ें: ऑपरेशन से पहले खाना खाने से यूं ही नहीं किया जाता है मना, जानें क्या है पूरी बात

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned