इस मछली से बचकर रहना, इतनी खतरनाक है कि छूने से भी हो जाती है मौत

  • वैसेे तो समुद्री जीव पानी के अंदर ही रहते हैं, लेकिन कई बार लहरों के साथ ये जीव समुद्र के किनारे भी आ जाते हैं।
  • पत्थर की तरह दिखने वाली यह मछली बहुत अधिक जहरीली होती है।

By: Mahendra Yadav

Published: 12 Jan 2021, 06:55 PM IST

समुद्र और महासागर में कई तरह के जीव पाए जाते हैं। इनमें कुछ तो बहुत प्यारे होते हैं और कुछ खतरनाक। इन समुद्री जीवों की अलग ही दुनिया होती है और ये पानी के अंदर ही रहते हैं। लेकिन कई बार लहरों के साथ ये जीव समुद्र के किनारे भी आ जाते हैं। ये समुद्री जीव लोगों को नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। वहीं इंसान समुद्र के किनारे घूमने जाते हैं और समुद्र की लहरों के बीच खडे़ होने का अलग ही मजा आता है।

इसके अलावा समुद्र के किनारे बीच पर बैठना भी पसंद करते हैं। लेकिन ऐसा करना जानलेवा भी हो सकता है, अगर आपको सामना एक मछली से हो जाए। यह मछली बहुत ही खतरनाक होती है और इसे छूने से भी इंसान की मौत हो सकती है।

दिखती है पत्थर की तरह
बता दें कि समुद्र में रहने वाले कई जीव बहुत ही प्यारे होते हैं तो कई जीव बहुत खतरनाक भी होते हैं। समुद्र में रहने वाली एक मछली भी इतनी ही खतरनाक है। यह बहुत जहरीली मछली होती है। इसका जहर पूरे शहर को बर्बाद कर सकता है। यहां तक की इस जीव को छूने से मृत्यु भी हो जाती है। यह जीव स्टोन फिश है। स्टोन फिश एक पत्थर की तरह दिखने वाली मछली है।

यह भी पढ़ें-यहां अपराधियों की पूजा की जाती है, लोग मांगते है दुआ, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

stone_fish_2.png

बेहद जहरीली
पत्थर की तरह दिखने वाली यह मछली बहुत अधिक जहरीली होती है। इसके शरीर में विषाक्त पदार्थों की भरमार होती है। पत्थर की तरह दिखने वाली यह मछली मकर रेखा के पास समुद्र में पाई जाती है। इसके पत्थर की तरह दिखने की वजह से लोग जल्दी से इसे पहचान नहीं पाते और इसका षिकार हो जाते हैं। यह मछली इतनी खतरनाक और जहरीली होती है कि अगर कोई इंसान इसे गलती से छू भी ले तो उसकी मृत्यु तक हो सकती है।

यह भी पढ़ें-पृथ्वी की इस जगह को कहते हैं ’नागलोक’, जो भी गया जिंदा नहीं लौटा, हर कोई खाता है खौफ

छोड़ती है न्यूरोटॉक्सिन विषाक्त पदार्थ
बताया जाता है कि इस मछली के शरीर में कई तरह के विषाक्त पदाथ पाए जाते हैं। ये विषाक्त पदार्थ इंसान के लिए बहुत ही खतरनाक होते हैं। बताया जाता है कि यदि कोई गलती से उस मछली पर पैर रख देता हैं, तो मछली उस व्यक्ति के शरीर के वजन के अनुसार न्यूरोटॉक्सिन विषाक्त पदार्थों को छोडती़ है। अगर शरीर का कोई भी हिस्सा इस जहर से प्रभावित होता है तो उसे काट देना पड़ता है।

Show More
Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned