एक मासूम हाथी को सबके सामने लटका दिया था फांसी के फंदे पर, पीछे की कहानी कर देगी बेचैन

उस शख्स को मैरी को ट्रेन करने के लिए बुलाया गया था। बचपन से प्यार से पाली गई मैरी के लिए वह दिन बहुत ही दर्दनाक था।

By: Priya Singh

Updated: 18 Dec 2018, 12:04 PM IST

नई दिल्ली। इतिहास के पन्नों में कैद एक हाथी की कहानी आज हम आपके सामने परत दर परत खोलेंगे। उसे बिग मैरी नाम दिया गया था। सालों से वह दुनिया के प्रसिद्ध सर्कस में काम करती थी। साल 1916 में उसे दर्शकों की भीड़ के सामने फांसी पर लटका दिया गया। इस तरह का यह पहला दर्दनाक मंज़र था जो अभी भी लोगों के जेहन में मौजूद है। मैरी की कहानी सर्कस के बाकि जानवरों से अलग नहीं है लेकिन उसकी मौत बाकी जानवरों से अलग और दुखद हुई। उसकी गलती बस इतनी थी कि उसने एक शख्स को मार डाला जिसने उसे दर्द पहुंचाया। उसे दर्शकों के सामने ऐसी सजा दी गई जिसके बारे में सुन कोई भी कोमल ह्रदय कांप उठे। वह 19वीं सदी थी चार्ली स्पार्क्स नाम के एक शख्स ने चार्ली सर्कस की शुरुआत की थी। उसके पास शेर, क्लाउन, हाथी और कई विदेशी जानवर थे। चार्ली के पिता ने मैरी को 4 साल की उम्र में खरीदा था। चार्ली और उसकी पत्नी ने मैरी को बिलकुल एक बच्चे की तरह पाला था।

 circus elephant hanged

सर्कस की सारी कलाकारियों से परिपूर्ण मैरी अपनी सूंड से 25 तरह की धुन निकाला करती थी। भारी भरकम मैरी अपने सिर पर खड़ी होकर करतब दिखाया करती थी। सब अच्छा चल रहा था लोग भी उसे खूब पसंद करते थे, और उसे भी लोगों से बहुत प्यार था। फिर एक दिन वॉल्टर एल्ड्रिज नाम के एक शख्स ने चार्ली सर्कस ज्वाइन किया। उस शख्स को मैरी को ट्रेन करने के लिए बुलाया गया था। बचपन से प्यार से पाली गई मैरी के लिए वह दिन बहुत ही दर्दनाक था। वॉल्टर को मैरी को संभालने के लिए एक भला पकड़ा दिया गया था। मैरी को कंट्रोल करने के लिए उसके कान पर इससे मारने को कहा गया।वॉल्टर उसके ऊपर सवार हुआ और उसने भाला मैरी को मारना शुरु कर दिया। तड़पती मैरी दर्द को बर्दाश्त नहीं कर सकी और फिर मैरी ने सूंड से एल्ड्रिज को नीचे गिराकर पैर रखकर उसका सिर कुचल दिया, वॉल्टर की मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना के बाद लोगों में दहशत फैल गई और लोगों ने सर्कस प्रशासन से यह मांग की कि जब तक मैरी को मारा नहीं जाएगा तब इस सर्कस के शोज देखने के लिए कोई नहीं जाएगा। लालच से भरे सर्कस प्रशासन ने लोगों की बात मान ली और सबके सामने मैरी को फांसी दे दी। हालांकि मैरी की मौत जाया नहीं हुई उसे इस तरह से मारने के बाद ही से जानवरों के खिलाफ क्रूरता पर कानून बने।

Show More
Priya Singh Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned