इस भारतीय की वजह से हर दिल में ‘रम’ गई 'Old Monk', अंग्रेजों ने शुरू किया था बनाना, आज 50 देशों में है सप्लाई

कपिल मोहन ने विजय माल्या से भी बड़े लिकर किंग के रूप में अपनी पहचान बनाई।

By: Neeraj Tiwari

Published: 07 Jan 2019, 01:17 PM IST

नई दिल्ली। पहाड़ों पर बर्फबारी हो रही है और देशभर के निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ऐसे में 1954 में लॉन्च हुई फेमस रम Old Monk की चर्चा होना लाजमी है। क्या आप जानते हैं कि इस रम को बनाने वाले कपिल मोहन एक भारतीय थे और भारतीय सेना से ब्रिगेडियर पद से रिटायर होने के बाद अपने पिता की कंपनी को मजबूरी में चलाना शुरू किया था। लेकिन कुछ सालों में ही कपिल मोहन ने विजय माल्या से भी बड़े लिकर किंग के रूप में अपनी पहचान बनाई। साल 2010 में उन्हें पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

 

खुद कभी नहीं पी शराब

फेमस रम Old Monk को बनाने वाले कपिल मोहन ने इस खास रम को 19 दिसंबर, 1954 लॉन्च किया था। खास बात यह है कि भारत से शुरू होने वाले इस ब्रांड को कपिल मोहन ने इंटरनेशनल ब्रांड बनाया, इसी की बदौलत आज यह 50 से अधिक देशों में शराब के शौकीनों के लिए परोसी जा रही है। गौर करने वाली बात यह कि सेना में रहते हुए और खुद इतनी बड़ी शराब कंपनी के मालिक होने के बाद भी कभी उन्होंने शराब नहीं पी। हालांकि रम (RUM) पीने वाले इसे रेग्यूलर यूज मेडिसिन के नाम से भी जानते हैं।

 

जनरल डायर की थी यह कंपनी

वैसे तो इस कंपनी की नींव 1855 में पड़ी थी। इसे स्कॉटलैंड के रहने वाले जनरल डायर के पिता एडवर्ड अब्राहम डायर ने हिमाचल प्रदेश के कसौली में शुरु किया था। साल 1949 में कपिल के पिता एनएन. मोहन ने डायर की इस कंपनी को खरीद लिया। इसके बाद 1966 में इस कंपनी का नाम बदलकर 'मोहन मीकिन ब्रिवरीज' रखा गया था और कपिल मोहन इसके चेयरमैन बने थे।

 

88 साल की उम्र में हुआ था निधन

फेमस रम Old Monk को बनाने वाले कपिल मोहन का निधन 88 साल की उम्र में 6 जनवरी 2018 को गाजियाबाद के उनके घर पर हुआ था। पोस्टमार्डम रिपोर्ट्स के माने तो उन्हें कार्डियेक अरेस्ट का अटैक आया था। जिससे उनकी मौत हुई थी।

Show More
Neeraj Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned