हर साल 5 महीनों के लिए बनाते है यह होटल, ठहरने के लिए आते हैं हजारों पर्यटक, एक रात का एक लाख किराया

स्वीडन के आइस होटल को हर साल सर्दियों में बनाया जाता हैं।
अनोखे होटल को बनाने की परंपरा साल 1989 से ही चली आ रही है।
इसे बनाने के लिए नदी से करीब 2500 टन बर्फ निकाला जाता है।

By: Shaitan Prajapat

Updated: 09 Jan 2021, 10:40 AM IST

नई दिल्ली। अकसर देखा जाता है कि कोई भी अपने घर, होटल या दुकान को बनाने के लिए सभी नीव मजबूत रखते है। ऐसा कहा जाता है कि जिसकी नीव मजबूत होती है वह इमारत लम्बे समय तक खड़ी रहती है। लेकिन आपको एक अनोखे होटल के बारे में बताने जा रहे है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस होटल को मात्र पांच महीनों के लिए बताया जाता है। सबसे खास बात इसको हर साल तैयार किया जाता है। हम बात कर रहे है आइस होटल की। इस अनोखी होटल को स्वीडन में तैयार किया जाता है। पांच महीने बाद वह अपने आप पिघल जाती है।

1989 से चली आ रही है परंपरा
स्वीडन के आइस होटल को हर साल सर्दियों में बनाया जाता हैं। खास बात यह है कि पांच महीने के बाद यह पिघल जाता है और नदी के पानी में मिल जाता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, इस अनोखे होटल को बनाने की परंपरा साल 1989 से ही चली आ रही है। खबरों के अुसार यह 32वां साल है, जब होटल को बनाया गया है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए इस साल आइस होटल में कोविड गाइडलाइन्स का भी ध्यान रखा जा रहा है।

यह भी पढ़े :— दुकानदार को महंगा पड़ा खराब जूता देना, पति पहुंच गया कोर्ट, देखें वीडियो

दुनियाभर के कलाकार दिखाते है कलाकारी
इस होटल को टॉर्न नदी के तट पर बनाया गया है। खबरों के अनुसार, इसे बनाने के लिए नदी से करीब 2500 टन बर्फ निकाला जाता है। इसका निर्माण अक्तूबर महीने से शुरू हो जाता है। खास बात यह है कि इसे बनाने के लिए दुनियाभर से कलाकार आते हैं और अपनी कलाकारी का प्रदर्शन करते है।

एक लाख रुपये तक किराया
इस अनोखे होटल में पर्यटकों के रूकने के लिए कई कमरे तैयार किए जाते है। खास बात यह है कि कमरों के अंदर का तापमान करीब माइनस पांच डिग्री सेल्सियस रहता है। बताया जाता है कि हर साल करीब 50 हजार पर्यटक इस होटल में ठहरने के लिए आते हैं। इस होटल में एक रात रुकने का किराया 17 हजार रुपये से लेकर एक लाख रुपये तक है। अंदर और बाहर से दिखने में यह होटल बहुत ही खूबसूरत नजर आती है। इसको अप्रैल महीने तक चलता है। उसके बाद यहां बर्फ पिघलनी शुरू हो जाती है। जिसके बाद होटल को बंद कर दिया जाता है।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned