ये थी दुनिया की सबसे 'सनकी मां', 3 कत्ल किए और लाश से बना दिए साबुन-केक...

  • पुलिस भी मामला जानकर हैरान रह गई थी
  • आज भी इन सबूतों को संभालकर रखा गया है

Prakash Chand Joshi

December, 0205:26 PM

नई दिल्ली: इस दुनिया में जितने अच्छे लोग हैं, तो उतने ही अपराध की दुनिया में सनकी लोग। ये अपराधी किस हद तक चले जाए इसकी कल्पना मात्र से ही डर लगता है। ऐसे ही एक सनकी अपराधी ( criminal ) के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, जिसकी बर्बरात ने लोगों के जेहन में सिहरन पैदा कर दी। चलिए जानते हैं उसके बारे में।

lady1.png

महिलाओं को 'निर्भीक' बनाने के लिए बनी थी ये रिवॉल्वर, अगर होती महिला डॉक्टर के पास तो बच सकती थी जान

इस सीरियल सनकी किलर का नाम है 'लियोनार्डो सियानसुल्ली' और ये महिला है। भले ही इस महिला की मौत हो गई, लेकिन मौत के 49 साल बाद भी इसका जिक्र होता है। इटली की रहने वाली इस महिला ने 3 महिलाओं का कत्ल साल 1939 से लेकर 1940 के बीच किया। इस महिला ने ये कत्ल अपने बच्चों की रक्षा के लिए किए थे। सियानसुल्लीख ने जिन तीन महिलाओं का कत्ल किया, वह सभी उसकी पड़ोसी थीं। सनकी मां ने पहला कत्लत किया फौस्टिना सेटी का। फौस्टिना का पति लंबे समय से लापता था। सियानसुल्लीस को कहीं से यह विश्वाीस हो गया था कि यदि वह अपने बच्चों की रक्षा करना चाहती है तो उसे इंसानों की बलि देनी होगी। उसने फौस्टिना को अपने घर बुलाया और शराब में जहर डालकर उसे परोस दिया।

lady2.png

सबसे हैरान करने वाली बात तो इसके बाद शुरू हुई, जब सियानसुल्ली ने फौस्टिना की लाश के कुल्हाड़ी से 9 टुकड़े किए। उसके शरीर से निकले खून को भी जमा किया। उसने शरीर के टुकड़ों को एक बर्तन में सात किलो कास्टिक सोडा के साथ मिलाया और तब तक मिलाया, जब तक वह पिघलकर मोटे और गहरे रंग का नहीं हो गया। उसने इससे साबुन बना लिया। यही नहीं, फौस्टिना के खून में आटा, चीनी, अंडे, चॉकलेट और दूध मिलाकर उसने केक बनाया। यह केक उसने घर आने वाले मेहमानों को भी ख‍लिया और खुद भी उसका स्वाद लिया। वहीं फ्रांसेस्का सोआवी उसकी दूसरी शिकार बनी थी। इसे भी उसे जहर दिया था। पहले की तरह इस महिला की बॉडी के उसने टुकड़े किए और साबुन और केक बनाया।

lady3.png

सियानसुल्ली ने पुलिस को खुद बताया की उसने अपना तीसरा शिकार वर्जीनिया कैसिओपी को बनाया था। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि पहले उसने उसे जहर दिया और लाश के टुकड़े किए और पहले की तरह ही साबुन बना लिया। उसने बताया कि उसने इन साबुनों को लोगों में बांट दिया। वहीं पुलिस को इन तीनों कत्ल के लिए सियानसुल्ली पर तब शक हुआ, जब वर्जीनिया कैसिओपो की एक बहन ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। वहीं साल 1970 में अससाइलम में ही सेरेब्रल एपोप्लेक्सी के कारण इस सीरियल किल्लर सियानसुल्ली की मौत हो गई। रोम के क्रिमनोलॉजिकल म्यूजियम में आज भी इन मामलों से जुड़े हुए सबूत रखे हुए हैं।

Prakash Chand Joshi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned