8 साल के बच्चे के कंकाल से उठा इंसानों के वजूद से पर्दा, 20 लाख साल पहले हुआ था धरती पर जन्म

  • Mysterious Turkana Lake : तुर्काना के झील से वैज्ञानिकों को साल 1984 में एक बच्चे का कंकाल मिला था
  • एक्स्पर्ट्स के अनुसार वातावरण में बदलाव के चलते झील अब रेगिस्तान में बदल गई है, पहले ये काफी बड़ी थी

By: Soma Roy

Published: 09 Jul 2020, 05:56 PM IST

नई दिल्ली। वैसे तो दुनिया में कई ऐसी जगह हैं जो रहस्यों (Mysterious) से भरे हुए हैं। इन्हीं में से एक है केन्या (Kenya) की झील तुर्काना (Turkana Lake)। कहते हैं कि यहां इंसानों के जन्म का इतिहास छिपा हुआ है। इस बात का खुलासा यहां मिले एक 8 साल के बच्चे के कंकाल (Skeleton Found) से हुआ। वैज्ञानिकों ने इस पर कई शोध किए तो पता चला कि धरती पर पहले इंसान ने किस तरह से अपना कदम रखा था।

वैसे तो इंसानों को बंदरों और आदिमानव का अंश माना जाता है। मगर ये समय के साथ कैसे विकसित हुए और धरती पर इनका जन्म कैसे हुआ। इसका किसी के पास सटीक जवाब नहीं है। इस बारे में कई जानकारों की राय अलग-अलग है। मगर झील से मिले बच्चे के कंकाल से पता चला कि धरती पर आदि मानव की भी कई और प्रजातियां रहीं हैं। जिनमें होमो इरेक्टस, होमो हैबिलिस और पैरेन्थ्रोपस बोइसी शामिल हैं। नए कंकाल के मिलने से इसमें होमो रुडोल्फेन्सिस का भी नाम जुड़ गया है। बताया जाता है कि वैज्ञानिकों को साल 1984 में बच्चे का कंकाल मिला था। जिससे पता चला कि धरती पर बीस लाख साल पहले धरती पर पहला इंसान पैदा हुआ था।

वैज्ञानिकों का मानना है कि तुर्काना झील में और भी कई ऐसे राज हैं जो बताते हैं कि लाखों साल पहले के इंसान कैसे रहते थे, क्या खाते थे? पहले ये झील बहुत बड़ी हुआ करती थी। मगर वातावरण में हुए बदलाव के चलते अब ये झील रेगिस्तान में तब्दील हो हो चुकी है। ऐसे में इंसानों की बाकी गुत्थी को समझना काफी पेंचीदा हो गया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ये झील ज्वालामुखी के पास है इसलिए यहां होने वाली हलचल की वजह से यहां मारे गए आदि मानवों के कंकाल भी धरती में समा गए होंगे।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned