Ajab Gajab Shauk: हर सप्ताह में 1 दिन दुल्हन बनने वाली महिला

Ajab Gajab Shauk: वैसे तो सजना संवरना हर महिला को बहुत अच्छा लगता है। लेकिन पाकिस्तान की महिला का अजीबोगरीब शौक जानकर आप आश्चर्य में पड़ जाएंगे। क्योंकि हीरा नामक यह महिला हर सप्ताह में एक बार दुल्हन बन जाती है, जिसके पीछे भी एक कहानी है।

 

By: Tanya Paliwal

Updated: 11 Sep 2021, 01:12 PM IST

नई दिल्ली। Ajab Gajab Shauk: यह दुनिया विचित्रता और विविधता का पर्याय ही कही जा सकती है। उसी प्रकार रहने वाले लोग भी तरह-तरह की खूबियां और शौक रखते हैं। किसी को खाने का शौक है, तो किसी को घूमने, किसी को नाचने, गाने का, किताबें पढ़ने का और किसी को कपड़े अथवा गाड़ियों का आदि। लेकिन दुनिया में लोगों के शौक यहीं तक सीमित नहीं है। आपको और भी ऐसे लोग मिल जाएंगे जिनकी पसंद और शौक जानकार आप हैरान हो सकते हैं। आज हम आपको ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सप्ताह में 1 दिन दुल्हन बनने का शौक है। सुनकर आपको अटपटा जरूर लगा होगा परंतु यही सच है।

दरअसल जिस तरह एक लड़की अपनी शादी वाले दिन सजती है उसी प्रकार पाकिस्तान में रहने वाली यह महिला हर शुक्रवार को सोलह श्रृंगार कर दुल्हन की तरह तैयार होती है। इसी अजीबोगरीब शौक के कारण यह महिला पाकिस्तान में चर्चा का विषय बनी हुई है।

आपको बता दें कि हीरा जीशान नामक 42 वर्षीय यह महिला मूलरूप से लाहौर के पंजाब प्रांत की रहने वाली है। हीरा पिछले सोलह साल से हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह खूब सजती संवरती है। उसके इस अटपटे शौक को जानकर हर कोई हैरान हो जाता है।

 

weird_bride.jpg

यह भी पढ़ें:

लेकिन हीरा के इस अजोबोगरीब शौक के पीछे भावुक करने वाली एक घटना छिपी है। दरअसल आज से 16 वर्ष पहले हीरा की मां बहुत बीमार पड़ गई थीं। उनकी बिगड़ती हुई हालत देखकर उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। उनकी मां को अपने अंतिम दिन करीब आते नजर आए तो उन्होंने इच्छा प्रकट की कि मृत्यु से पहले वह अपनी बेटी हीरा को दुल्हन बनते देखना चाहती हैं। और हीरा की शादी वहीं अस्पताल में एक आदमी से तय हो गई जिसने उसकी मां को रक्तदान किया था।

अपनी मां की आखिरी इच्छा का मान रखते हुए हीरा ने हां कर दी। हीरा ने बताया कि मां के अस्पताल में भर्ती होने के कारण उन्होंने बेहद साधारण तरीके से बिना कोई श्रृंगार की शादी की थी और उनकी विदाई भी एक रिश्ते में हुई थी। तथा शादी के कुछ दिन बाद उनकी मां की मृत्यु हो गई थी। अपनी मां की मौत का हीरा को बहुत सदमा लगा।

वहीं दूसरी ओर शादी के बाद उनके 6 बच्चों में से 2 की मृत्यु हो गई, जिसका बहुत गहरा प्रभाव उनकी दिमागी हालत पर हुआ। वह तनाव में रहने लगी और इसी अवसाद से निकलने के लिए वह हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह सोलह सिंगार करके सजती है। हीरा के पति लंदन में रहते हैं और वह अपने बच्चों के साथ पाकिस्तान में रहती हैं। हीरा का लगता है कि इस तरह तैयार होकर उन्हें काफी खुशी मिलती है। इसी कारण वह पिछले 16 सालों से हर शुक्रवार को दुल्हन की तरह तैयार होती है। हीरा की कहानी इन दिनों पाकिस्तान में खूब सुर्खियां बटोर रही है।

 

Tanya Paliwal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned