इस तकनीक से तीसरी बार प्रेग्नेंट हुई 4 बच्चों की मां, अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देखकर हैरान हो गए डॉक्टर्स

इस तकनीक से तीसरी बार प्रेग्नेंट हुई 4 बच्चों की मां, अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देखकर हैरान हो गए डॉक्टर्स

Vinay Saxena | Publish: Sep, 09 2018 04:24:19 PM (IST) अजब गजब

अमेरिका की एक महिला को शादी के तीन साल बाद भी जब बच्चा नहीं हुआ तो उन्होंने आईवीएफ तकनीक का सहारा लिया।

नई दिल्ली: अमेरिका की एक महिला को शादी के तीन साल बाद भी जब बच्चा नहीं हुआ तो उन्होंने आईवीएफ तकनीक का सहारा लिया। इसके बाद उन्होंने इस तरीके से पहली बार में एक लड़के को जन्म दिया था और अगली बार में 3 लड़को को। वह बेहद खुश थीं, लेकिन उन्हें और उनके पति बेटी चाहिए थी। जब तीसरी बार वह इस तकनीक के जरिए प्रेग्नेंट हुई तो उनकी अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देख सब हैरान रह गए।

शादी के तीन साल बाद भी नहीं बनी थी मां

मां बनने की खुशी आैर उसका अहसास बेहद खास होता है। हर महिला मां बनने का ख्वाब देखती है। कुछ एेसा ही थी अमेरिका की सारह इमबियरोविक्ज के साथ, लेकिन शादी के तीन साल बीतने के बाद भी उन्हें संतान का सुख नहीं मिल पा रहा था। उन्होंने इसके लिए कई कोशिशें की लेकिन वह असफल रहीं।

आईवीएफ तकनीक की मदद ली

सारह के मुताबिक, वह शादी के 3 सालों तक प्रेग्नेंट होने की कोशिश करती रही लेकिन कुछ नहीं हुआ। फिर उन्होंने विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) तकनीक की मदद ली। सराह ने इस तरीके से पहली बार में एक लड़के को जन्म दिया था और अगली बार में 3 लड़को को, लेकिन उन्हें और उनके पति बिल को बेटी चाहिए थी।

अल्ट्रासाउंड में दिखी तीन बेटियां

तीसरी बार उन्होंने इसके जरिए प्रेग्नेंट होने की कोशिश की तो बहुत मुश्किलें आईं। डॉक्टर्स के बहुत कोशिशों के बाद सराह तीसरी बार जब प्रेग्नेंट हुई तब उनका अल्ट्रासाउंड कराया गया तो सामने आया कि इस बार उनके गर्भ में 3 बेटियां हैं। लड़कियां देख कर कपल बहुत खुश हुआ। अब इस कपल के 7 बच्चे हैं। इसमें तीन लड़कियां और चार लड़के शामिल हैं। बता दें, विट्रो फर्टिलाइजेशन तकनीक से महिला के शरीर से अंडों को लेकर स्पर्म से शरीर के बाहर फर्टिलाइज किया जाता है। फर्टिलाइजेशन पूरा होने पर फिर अंडों को गर्भ में स्थापित किया जाता है। ये इस्तेमाल वो कपल करते हैं, जिन्हें संतान नहीं होती।

Ad Block is Banned